CAA पर सेना प्रमुख ने कहा-नेता वे नहीं हैं जो लोगों को गलत दिशा दिखाते हैं

New Delhi : सीएए (CAA) के लेकर देशभर में हुए हिं’सक प्रदर्शनों पर आर्मी चीफ जनरल बिपिन रावत ने सख्त प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कहा, ‘नेता वे नहीं हैं जो लोगों को गलत दिशा दिखाते हैं।’ नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ देशभर की यूनिवर्सिटीज में हुई हिं’सक घटनाओं पर भी उन्होंने अपनी प्रतिक्रिया दी। सेना प्रमुख ने कहा, ‘जैसा कि हम विश्वविद्यालयों और कॉलेजों में देख रहे हैं।

छात्र शहरों और कस्बों में आगजनी और हिं’सा भड़काने वाली भीड़ का नेतृत्व कर रहे हैं। यह नेतृत्व नहीं है।’ इसके साथ ही आर्मी चीफ ने सेना की सुरक्षा में लगे जवानों को जोश और जुनून को नमन किया उन्होंने कहा, ‘जब हम दिल्ली में खुद को ठंड से बचाने में लगे होते हैं तब सियाचिन में सॉल्टोरो रिज पर हमारे जवान देश की सुरक्षा में लगातार खड़े रहते हैं, वहां तापमान -10 से -45 डिग्री के बीच रहता है। मैं

उन जवानों को सलाम करता हूं।’ बता दें सीएए को लेकर देश भर विश्विद्यालयों में विरोध प्रदर्शन हुए थे। दिल्ली के जामिया मिलिया इस्लामिया और उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ मुस्लिम विश्विद्यालय में विरोध प्रदर्शन के दौरान हिं’सा भी हुई।