दुनिया को हंसानेवाला पाई-पाई को तरसता था- पिता का इलाज निजी हॉस्पिटल में कराने के पैसे भी न थे

New Delhi : आज जब कॉमेडी की बात होती है तो सबकी जबान पहला नाम कपिल शर्मा का ही होता है। जैसे वो भारत में कॉमेडी के पर्याय बन गए हों, और हो भी क्यों न उनका कॉमेडी शो आज भी सबसे ज्यादा देेखे जाने वाले शो में गिना जाता है। देश में उनकी पॉपुलेरिटी को इस तरह समझा जा सकता है कि देश भर में कोई भी कॉमेडियन उनकी टक्कर का कॉमेडी शो नहीं खड़ा कर पाया है। यही नहीं कपिल शर्मा अपने शो में उन लोगों को काम दे रहे हैं जो कभी किसी शो में उनके जज हुआ करते थे या उनके साथी रहे। आज सोशल मीडिया का दौर है यहां आपने कइयों को रातों रात हिट होते हुए देखा होगा। लेकिन कपिल की जिंदगी में ये रातों रात नहीं हुआ।

कपिल नाम का एक लड़का जो कभी शादी पार्टियों में या स्कूल कॉलेज के फंक्शन में कॉमेडी करता था उसे कपिल शर्मा बनने और एक कॉमेडी आईकॉन बनाने के पीछे खुद उनकी मेहनत रही है। उनके लिए इस इंडस्ट्री में कोई गॉ़ड फादर नहीं था।
कपिल मूल रूप से पंजाब के अमृतसर के रहने वाले हैं, यहीं उनकी शुरूआती शिक्षा से लेकर अपनी कॉलेज तक की पढ़ाई पूरी की। यहीं पर ही उनके पिता एक पुलिस कांस्टेबल के पद पर तैनात थे। मां गृहणी थीं तो घर की आमदनी का स्रोत पिता ही थे। सबकुछ ठीक ही चल रहा था कि 1997 में उनके पिता को केंसर होने का पता चला। पिता के ईलाज में घर की सारी सेविंग्स जाती रही लेकिन 2004 में उनके पिता का दिल्ली के एम्स में निधन हो गया। कपिल आज भी इस बात का अफसोस अपने दिल में रखते हैं कि उस समय उनके पास इतने पैसे नहीं थे कि वो अपने पिता का इलाज किसी प्राईवेट हॉस्पीटल में करा पाते। जब पिता का निधन हुआ तब कपिल कॉलेज में थे और अपनी पढ़ाई कर रहे थे। कपिल ने अपनी पढ़ाई और अपने खर्च के लिए 10वीं कक्षा से ही कमाना शुरू कर दिया था। वो खुद बताते हैं कि उन्होंने टेलीफोन बूथ पर अपनी पहली नौकरी की तब वो 10वीं में पढ़ा करते थे। इसके साथ ही वो रात में जगराते भी करते जहां से गुजारे भर का इंतजाम आराम से कर लेते थे।
कपिल नें अपनी ग्रेजुएशन अमृतसर के हिन्दू कॉलेज से की है। जब वो कॉलेज में तभी से उन्होंने थियेटर करना शुरू कर दिया था। वो अपनी एक्टिंग के दम पर कई कॉलेज में अपनी पहचान बना चुके थे। इसी दौरान उनके पिता की तबीयत ज्यादा खराब रहने लगी। परिवार में आर्थिक तंगी का दौर शुरू हो गया। ये देखते हुए कपिल ने एक्टिंग को प्रोफेशन के रूप में चुनने के लिए थिएटर का कोर्स किया लेकिन जब कपिल इस कोर्स की फीस नहीं भर पाए तो उन्हें कोर्स को बीच में ही छोड़ना पड़ा। इस समय तक वो कई कॉलेज में अपनी एक्टिंग के लिए फेमस हो गए थे तो उन्हें कॉलेज में थियेटर और कॉमेडी करने के लिए कुछ पैसे मिलते रहते। ये पैसे कपिल के लिए तो ठीक थे लेकिन अब वो परिवार के बारे में भी सोच रहे थे। इसे देखते हुए उन्होंने थियेटर को सिखाना शुरू कर दिया। यहीं से उनकी अभिनय और कॉमेडी की आर्ट निखरी। कपिल अपने जीवन में इन दिनों को वरदान की तरह मानते हैं क्योंकि यहां से उन्होंने काफी कुछ सीखा। एक्टिंग सिखाने से उनमें इतना आत्मविश्वास आ गया कि वो अब अपने आपको उस समय के पॉपुलर कॉमेडी शो ‘लाफ्टर चैलेंज’ में देखना चाहते थे।

अब वो बस किसी तरह से ‘लाफ्टर चैलेंज’ में भाग लेना चाहते हैं, तो उन्होंने ऑडिशन के अवसरों की तलाश शुरू कर दी। वह अमृतसर में ऑडिशन के लिए गए लेकिन रिजेक्ट कर दिए गए। लेकिन यहां उनके एक बचपन के दोस्त का सिलेक्शन हो गया। जिसके बाद उन्होंने सोच लिया कि अगर वो जा सकता है तो मैं क्यों नहीं। इसके बाद वे दिल्ली में आयोजित ऑडिशन के लिए गए जहाँ उनका चयन हुआ। ऑडिशन को मंजूरी देने के बाद, उन्होंने प्रतियोगिता में भाग लिया और उन्हें वर्ष 2007 में ‘लाफ्टर चैलेंज’ का विजेता घोषित किया गया। कपिल को पता था कि यह सिर्फ एक शुरुआत थी और इसलिए, उन्होंने जितने भी शो किए, उतने ही शो का हिस्सा बनने का फैसला किया । उनके रास्ते में आए तमाम मौकों में से एक, ‘कॉमेडी सर्कस’ भी था, जो उस समय एक हिट कॉमेडी शो था। उन्होंने शो में इतनी पॉपुलेरिटी हासिल कर ली कि लोग कॉमेडी सर्कस को सिर्फ कपिल के एक्ट के लिए ही देखते थे।
वो कॉमेडी सर्कस में लगातार 6 बार विजेता बने। कपिल अभी भी संतुष्ट नहीं थे और आगे के बारे में सोच रहे थे। उनकी कला की पहचान अब लोगों में हो चुकी थी। उन्होंने कॉमेडी सर्कस से जितना भी पैसा कमाया सारा पैसा अपने प्रोडक्शन हाउस ‘K9 प्रोडक्शंस’ को बनाने में लगा डाला। इसके बाद कलर्स चैनल के सहयोग से, उन्होंने ‘कॉमेडी नाइट्स विद कपिल’ शो लॉन्च किया। जल्द ही, यह शो सफल हो गया और अपार लोकप्रियता हासिल की। कपिल जिन सुपरस्टार से मिलकर मात्र एक फोटो खिंचाने का सपाना रखते थे वही सुपरस्टार अब खुद कपिल के शो में आने लगे। लगभग हर बड़े सुपरस्टार ने इस शो में अपनी उपस्थिति दर्ज कराई, चाहे वह अमिताभ बच्चन हों या शाहरुख खान।

इसके बाद तो कपिल कॉमेडी के आईकॉ़न बनकर उभरे। कपिल में हंसाने और हाजिर जवाबी की कला है जिसने उनको आम से खास बना दिया। लेकिन यहां उनकी मुसीबतें नहीं थमी उनके शो पर आग लगने के बाद सब कुछ बर्बाद हो गया जिसे कपिल ने फिर खड़ा किया। इसके बाद उनके अपने ही साथी सुनील ग्रोवर से मतभेद हुए और वो इस शो से अलग हो गए। उनके अलग होने के बाद लोगों ने सोचा कि अब शो नहीं चलेगा लेकिन कपिल अपने दम पर शो को पुरानी जैसी प्रशिद्धि पर लेकर आए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

9 + one =