हेलीकॉप्टर हादसे में शहीद हुए रजनीश परमार का राजकीय सम्मान के साथ किया गया अंतिम संस्कार

New Delhi : लेफ्टिनेंट कर्नल रजनीश परमार का रविवार को पूरे राजकीय सम्मान के साथ पालमपुर में अंतिम संस्कार किया गया। लेफ्टिनेंट कर्नल रजनीश परमार भूटान में शुक्रवार को अपने जन्मदिन पर भारतीय सेना के हेलीकॉप्टर हादसे में शहीद हो गए थे।

आपको बता दें कि शुक्रवार को भूटान में भारतीय सेना का एक चीता हेलीकॉप्टर दुर्घ’टनाग्रस्त हो गया था। इस दुर्घटना में विमान में सवार दोनों पायलट शहीद हो गए हैं। दुर्घ’टना में शहीद होने वाले भारतीय सेना के पायलट लेफ्टिनेंट कर्नल रजनीश परमार थें, जबकि दूसरा पायलट भूटानी सेना का प्रशिच्छु पायलट था।

भारतीय सेना के प्रवक्ता कर्नल अमन आनंद ने इस घटना के बारे में मीडिया से भूटान को बताया था कि योंगफुल्ला के पास दोपहर 1 बजे एक भारतीय सेना का हेलीकॉप्टर दुर्घटनाग्रस्त हो गया। उन्होंने आगे कहा कि हेलीकॉप्टर का दोपहर 1 बजे के बाद रेडियो से संपर्क टूट गया। यह हेलीकॉप्टर खिरु (अरुणांचल प्रदेश) से योंफुल्ला तक के उड़ान पर था।

आपको बता दें कि चीता हेलीकॉप्टर को 80 के दशक से इस्तेमाल किया जा रहा। यह हेलीकॉप्टर 60 के दशक की तकनीक से उड़ान भर रहे हैं। सेना के अधिकारी लंबे अर्से से इसे हटाने की मांग कर रहे हैं।