दिल्ली में अप’राधों को कम करने के लिए उपराज्यपाल अमित बैजाल ने गश्ती को बढ़ाने के दिए निर्देश

New Delhi: दिल्ली में बढ़ते अप’राधों की दर को देखते हुए दिल्ली के उपराज्यपाल अमित बैजाल ने शहर में गश्ती को बढ़ाने के आदेश दिए हैं। पिछले कुछ दिनों में शहर भर में सड़कों पर गोली’बारी और ह’त्याएं आम होती जा रही हैं। इन घट’नाओं को देखते हुए उपराज्यपाल ने पुलिस अधिकारियों को गश्ती करने के आदेश दिए हैं। शहर के पुलिस अधिकारियों और वरिष्ठ अधिकारियों के साथ हुई बैठक में उन्होंने यह दिशा-निर्देश दिए हैं।

दिल्ली पुलिस ने उपराज्यपाल को सूचित करते हुए कहा है कि शहर भर में 64 कमजोर हिस्सों की पहचान की गई है। इन कमजोर हिस्सों में अप’राध की सबसे ज्यादा घट’नाएं सामने आईं हैं। शहर के कई भीड़ वाले इलाके भी इस लिस्ट में शामिल हैं। आश्रम चौक से बदरपुर फ्लाईओवर, लाला लाजपत राय रोड, भोपुरा बॉर्डर से सिग्नेचर ब्रिज, रानी झाँसी रोड, आईएसबीटी कश्मीरी गेट से खालसा कॉलेज जैसे हिस्सों को अपराध के मामले में संवेदन’शील घोषित किया गया है। इन जगहों पर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम करने के निर्देश दिए गए हैं।

दिल्ली पुलिस के प्रवक्ता ने कहा कि इन जगहों पर पुलिस अधिकारियों की संख्या में बढ़ोतरी की जाएगी। सहायक पुलिस आयुक्त रैंक का एक अधिकारी हर दिन इन जगहों पर मौजूद रहेगा। पुलिस अधिकारी हर दिन, रात के 10 बजे से लेकर सुबह के 3 बजे तक पुलिस कंट्रोल रूम वैन के साथ गश्त करेगा। हमारे वरिष्ठ पुलिस अधिकारी भी सड़क पर गश्त करते रहेंगे। शहर भर से लगभग हर दिन गो’ली मा’रने की कई घट’नाएं सामने आई हैं।

रविवार की रात में, पत्रकारों की गाड़ी पर अ’ज्ञात बंदूक’धारियों ने गो’ली मा’र दी थी। एक म’र्डर स्टोरी को कवर करने जा रहे इन पत्रकारों पर ह’मला किया गया था। उनके समाचार चैनल की गाड़ी पर गो’लियां चलाई। गाड़ी पर लगातार तील गो’लियां चलाई गईं जिसमें से दो गो’लियां कार में लगी और एक छूट गई। पत्रकारों को कुछ नहीं हुआ और मौके पर से बंदूक’धारी भागने में सफल रहे। शहर के सभी हिस्सों से स्नै’चिंग की घट’नाएं सामने आई हैं। पुलिस ने सभी स्टेशनों पर एंटी-स्नै’चिंग टीम बनाई है जो मुखबिरों के साथ काम कर रही है। राष्ट्रीय राजधानी में हर साल 6,000 से अधिक स्नै’चिंग के मामले सामने आते हैं। पिछले साल, 6932 मामले सामने आए थे। 2017 में यह संख्या 8231 थी।