नहीं चुका पाए लोन बैंक ने ज़ब्त किया घर,मां बेटी ने की आ’त्मह’त्या, पुलिस ने किया 4 को गि’रफ्ता’र

New Delhi:लोन पर लिए अपने घर पर रह रहीं 40 साल की मां लेखा और 19 साल की बेटी वैशनवी को अपने इसी घर में, बैंक की तरफ से जब्ती का नोटिस मिला तो दोनों मां बेटी ने स’दमें में आकर अपनी जिंदगी के आगे घुटने टेक दिए। दोनों ने आ’ग ल’गाकर आ’त्मह’त्या कर ली। घ’टना केरल के तिरुवनंतपुरम की है। जिसमें पुलिस ने धोखा-धड़ी के आ’रोप में अब तक 4 लोगों को हि’रासत में लिया है जिनसे पूछ-ताछ की जा रही है।

 

दरअसल, बैंक ने उन्हें होम लोन चुकाने के लिए जब्ती नोटिस जारी किया था। बैंक में 4,80,000 रुपए होम लोन चुकाने के लिए उन्हें ये नोटिस जारी हुआ। जिसके बाद उन्होंने खुद को आ’ग ल’गा ली। बेटी की मौ’त पहले ही हो गई थी, जबकि मां ने गंभीर हालत में अस्पताल में द’म तो’ड़ दिया।उन्होंने 2003 में 5 लाख रुपए उधार लिए थे और अब तक 8 लाख का भुगतान कर चुके थे।

परिवार के रिश्तेदार बताते हैं कि लेखा के पति चंद्रा ने 2003 में केनरा बैंक की नेय्यातिनकारा शाखा से अपना घर बनाने के लिए 5 लाख रुपए का कर्ज लिया था। घरवाले 8 लाख रुपए चुका चुके थे, लेकिन 2010 से मूलधन पर लगे ब्याज की किस्तें चुकाने में नाकाम रहे। इस को लेकर बैंक लगातार उनपर दबाव डाल रहा था

आगे उन्होंने बताया कि परिबार को मंगलवार सुबह बैंक से फोन और मैसेज आए, जिसमें कहा गया था कि उनका घर 15 मई तक जब्त हो जाएगा। बैंक अधिकारियों के लगातार दौरे से दोनों मां और बेटी परेशान थे। उन्होंने बैंक अधिकारियों द्वारा मिल रही ध’मकियों की भी बात कही है।पूरे मामले पर अब पुलिस ने चार संबंधित लोगों को गिर’फ्तार किया है।