सबरीमाला मंदिर में तृप्ति देसाई के प्रवेश के पीछे छिपी है गहरी साजिश : केरल मंत्री

New Delhi: केरल देवस्वाम मंत्री कडकम्पल्ली सुरेंद्रन ने सबरीमाला मंदिर में तृप्ति देसाई के प्रवेश करने को एक गहरी साजिश बताया है। मंत्री ने कहा है कि तृप्ति देसाई के नेतृत्व में महिलाओं का भगवान अयप्पा के दर्शन करने का फैसला किसी साजिश से जुड़ा हुआ है।

साथ ही उन्होंने कहा कि आज महिला अधिकार कार्यकर्ता बिंदू अम्मिनी पर मिर्च पाउडर से हुए हमले को तृप्ति देसाई की सरकार के खिलाफ षडयंत्र बताया है। उन्होंने कहा कि देसाई का यहां आना और कार्यकर्ता बिंदू अम्मिनी पर हमला एक पूर्व नियोजित एजेंडे का हिस्सा है।

मंत्री ने देसाई को चुनौती देते हुए कहा कि केरल सरकार इस महिला अधिकार कार्यकर्ता को अपने मिशन में कामयाब नहीं होने देगी। देसाई आरएसएस और भाजपा के गढ़ पुणे से आई हैं और उनका सबरीमाला जाने के फैसले के पीछे राज्य सरकार को एक साजिश का संदेह है। मंत्री ने आरोप लगाया कि यह कदम सबरीमाला में एक शांतिपूर्ण तीर्थयात्रा के दौरान परेशानी पैदा करने के लिए कदम उठाया गया है।

तृप्ति देसाई आज अपनी पूरी टीम के साथ सबरीमाला मंदिर में प्रवेश करने के लिए कोच्चि पहुंच चुकी हैं। फिलहाल महिलाओं का यह समूह कोच्चि शहर के पुलिस कमिश्नर के कार्यालय में मौजूद है। भगवान अयप्पा भक्त और भाजपा कार्यकर्ता बड़ी संख्या में पुलिस कार्यलय के बाहर जमे हुए हैं और ‘अय्यप्पा शरणम’ मंत्र का जाप कर देसाई की यात्रा का विरोध करने में जुटे हैं।

वहीं इससे पहले तृप्ति देसाई ने कहा था कि आज संविधान दिवस है और इस शुभ अवसर पर हम सब सबरीमाला मंदिर जाएंगे। सभों को चुनौती देते हुए उन्होंने कहा था कि मंदिर जाने से न तो राज्य सरकार और न ही पुलिस हमें रोक सकती है।