हिंदू महिला नेता की गिरफ्तारी के बाद केरल बंद का आह्वान, आज विरोध-प्रदर्शन तेज होने की आशंका

NEW DELHI:केरल के सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश को लेकर जारी विरोध बढ़ता ही जा रहा है। इस बढ़ते विवाद के बीच भगवान अयप्पा के भक्तों ने पांबा से सबरीमाला तक का सफर शुरू किया। भगवान अयप्पा के दर्शन के लिए पहुंचने वाली महिलाओं को प्रदर्शनकारियों के भारी विरोध का सामना करना पड़ रहा है। आज यह विरोध और तेज होने की आशंका जताई जा रही है, क्योंकि हिंदू ऐक्या वेदी की अध्यक्ष केपी शशिकला को गिरफ्तार कर लिया गया। उसके बाद सबरीमाला कर्मा समिति ने राज्य में बंद का आह्वान किया है।

Sabarimala Protest,

आपको बता दें कि शशिकला की उम्र 50 से ऊपर है और वह मंदिर दर्शनों के लिए पहुंची थी लेकिन उन्हें जाने से रोक दिया गया। आपको बता दें कि 10 से 50 साल की महिलाओं की एंट्री के खिलाफ रहे संगठन लगातार प्रदर्शन कर रहे हैं। मंदिर के आसपास भारी संख्या में पुलिसबल तैनात किया गया है और सबरीमाला के द्वार, पंबा और निलक्कल में धारा 144 लागू कर दी गई है। पुलिस ने हिंदूवादी महिला नेता केपी शशिकला समेत कई प्रदर्शनकारियों को गिरफ्तार भी किया है। जिसके बाद आज सबरीमाला कर्मा समिति ने राज्य स्तरीय बंद बुलाया है।

https://twitter.com/ANI/status/1063661815450804224

विश्व हिन्दू परिषद के अध्यक्ष एसजेआर कुमार ने आरोप लगाया कि हिन्दू ऐक्या वेदी प्रदेश अध्यक्ष के. पी. शशिकला को पुलिस ने सबरीमला के निकट माराकोट्टाम से शुक्रवार देर रात करीब ढ़ाई बजे गिरफ्तार किया।​उन्होंने आगे बताया कि वह भगवान की पूजा करने के लिए पूजन सामग्री लेकर पहाड़ी पर चढ़ रही थीं, उसी दौरान उन्हें गिरफ्तार किया गया। कुछ अन्य कार्यकर्ताओं को भी हिरासत में लिया गया है। उन्होंने आरोप लगाया कि केरल सरकार सबरीमला मंदिर को नष्ट करना चाहती है।

जानकारी के लिए आपको बता दें कि सामाजिक कार्यकर्ता तृप्ति देसाई को कोच्चि एयरपोर्ट से मुंबई वापस लौटना पड़ा था। इससे पहले वे करीब 14 घंटे तक कोच्चि एयरपोर्ट पर फंसी रही थी। सबरीमाला मंदिर में प्रवेश के लिए छह अन्य महिलाओं के साथ पहुंची देसाई का बीजेपी, आरएसएस समेत अन्य संगठनों के विरोध का सामना करना पड़ा। जिसके बाद वे एयरपोर्ट से ही वापस मुंबई लौट गईं।