मोदी द्वारा बुलाए गए ‘एक राष्ट्र, एक चुनाव’ बैठक में ममता के बाद अब केजरीवाल भी नहीं होंगे शामिल

New Delhi: आज यानी बुधवार को ‘एक राष्ट्र, एक चुनाव’ मुद्दा सहित कई अन्य मुद्दों पर चर्चा के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक सर्वदलीय बैठिक बुलाई है। इस बैठक में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और टीएमसी प्रमुख ममता बनर्जी ने आने से पहले ही मना कर दिया है। और अब दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविन्द केजरीवाल ने भी आने से मना कर दिया है। AAP का प्रतिनिधित्व करने के लिए राघव चड्ढा बैठक में मौजूद होंगे।

दोनों सदनों ( लोकसभा और राज्यसभा) के सदस्यों की बैठक की अध्यक्षता पीएम नरेन्द्र मोदी करेंगे। आपको ज्ञात हो कि आम आदमी पार्टी के लोकसभा में एक और राज्यसभा में तीन सदस्य हैं। इस बार के आम चुनाव में आप केवल सीट जीत पाई थी। पंजाब से भगवंत मान दोबारा लोकसभा में चुन कर आये हैं। जिस भी पार्टी का लोकसभा या राज्यसभा में एक भी सदस्य है उन सभी पार्टी प्रमुख को  मोदी ने आमंत्रित किया है। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ने संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी को पत्र लिखकर बैठक में ण मौजूद होने की जानकारी दी थी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा 19 जून बुधवार को सभी पार्टी प्रमुखों के साथ ‘एक राष्ट्र, एक चुनाव’ के मुद्दे पर और अन्य महत्वपूर्ण विषयों पर चर्चा करने के लिए यह बैठक बुलाई जा रही है। ममता ने यह कहते हुए बैठक में आने से मना कर दिया कि ‘सबसे पहले केंद्र सरकार को इस मुद्दे पर एक श्वेतपत्र लाना चाहिए और कानूनी जानकारों से चिंतन-मनन करना चाहिए। इस मामले में जल्दबाजी करना ठीक नहीं है। इस वजह से ना वह और ना ही उनकी पार्टी का कोई प्रतिनिधि इस बैठक में शामिल होगा’। भारतीय जनता पार्टी एक देश एक चुनाव मुद्दे को पिछले कई सालों से उठाती रही है। इसके तहत देश में लोकसभा और विधानसभा चुनाव एक साथ कराए जाएंगे।