मैं खुश हूं कि केंद्र ने अनधिकृत कॉलोनियो को पक्का करने का हमारा फैसला मान लिया-केजरीवाल

New Delhi : दिल्ली की अनधिकृत कॉलोनियों को पक्का करने का दावा कर चुके मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल अब इसे निभाने में जुट गए हैं। इसी पर बात करते हुए बुधवार को केजरीवाल ने कहा कि जब तक मैं इस काम को पूरा नहीं कर लेता, चैन से नहीं बैठूंगा। समाचार एजेंसी एएनआई से बात करते हुए केजरीवाल ने कहा कि हमने केंद्र की सभी शर्तों को स्वीकार कर लिया है, इस समय हमारा एक ही उद्देश्य है, ‘कच्ची’ कॉलोनियों में उचित सड़कों और रजिस्ट्रियों को सुनिश्चित करना। जब तक ऐसा नहीं होगा मैं आराम नहीं करूंगा। मुझे खुशी है कि केंद्र ने कच्ची ’कालोनियों को अधिकृत करने का फैसला किया।

पिछले दिनों केजरीवाल ने ने ऐलान किया कि 1797 परिवार जो अनाधिकृत कालोनियों में रह रहें है उन्हें उनका मालिक बना दिया जाएगा। इन कालोनियों की बेहतरी के लिए सरकार ने 500 करोड़ रुपये का फण्ड रिलीज कर दिया है।

हाल ही में दिल्ली के सीएम Arvind Kejriwal ने प्रेस कांफ्रेंस करके कहा कि मैं अनाधिकृत कॉलोनियों में रहने वाले लोगों को बधाई देना चाहता हूं क्योंकि केंद्र ने दिल्ली सरकार के प्रस्ताव पर कल सकारात्मक प्रतिक्रिया दी, ताकि लोगों को उनके घरों पर मालिकाना हक दिया जा सके।

केजरीवाल लगातार दावा करते रहे हैं कि उन्होंने अपने अब तक के कार्यकाल में दिल्ली में बहुत अधिक विकास कार्य किया है और उनका कहना है कि उनके द्वारा कराे गे विकास कार्यों के बल पर ही वह दोबारा दिल्ली की सत्ता पर काबिज होंगे।

दिल्ली में तीन मुख्य पार्टियां हैं। आम आदमी पार्टी , भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस। 2015 में हुए विधानसभा चुनाव में आप को ऐतिहासिक जीत मिली थी। 70 विधानसभा सीटों वाली दिल्ली में आप को 67 सीटें मिली थीं। भारतीय जनता पार्टी को तीन सीटें मिलीं तो वहीँ कांग्रेस का सूपड़ा साफ़ हो गया था। एक फ्लाईओवर का उद्घाटन करते हुए केजरीवाल ने विश्वास जताया था कि उनके कामों को देखते हुए शहर के लोग फिर से आप को ही वोट करेंगे।