अयोध्या फैसले के बाद चारों ओर अमन..तिरंगे के साथ निकाला गया बारा वफात का जुलूस

New Delhi : 134 साल पुराने अयोध्या विवाद पर फैसला आने के दूसरे दिन काशी में हालात सामान्य रहे। यहां सुरक्षा के मद्देनजर बड़ी संख्या में पुलिसबल तैनात रहा, लेकिन सड़कों और बाजारों में रौनक बरकरार रही। तनाव की स्थिति नहीं नजर आई।

बारा वफात का जुलूस तिरंगे के साथ निकाला गया। काशी में विश्वनाथ मंदिर और घाटों में श्रद्धालु पहुंचे। मथुरा में भी यही स्थिति रही।

काशी में बारा वफात के जुलूस के दौरान विश्वनाथ मंदिर के पास एक एंबुलेंस फंस गई। इस दौरान मुस्लिम युवकों ने इसे रास्ता दिया।

काशी विश्वनाथ मंदिर: श्रद्धालु बाबा भोलेनाथ के दर्शन के लिए पहुंचे। रविवार होने के चलते मंदिर की गली में अधिकांश दुकानें बंद रहीं। काल भैरव मंदिर: श्रद्धालुओं की संख्या आम दिनों से ज्यादा रही। फूल माला, प्रसाद, साड़ियों की ज्यादातर दुकानें खुली मिलीं। काल भैरव को काशी का कोतवाल कहा जाता है। गंगा घाट: प्रदोष होने से रविवार को व्रत और स्नान करने वाले श्रद्धालु गंगा के विभिन्न घाटों पर पहुंचे। अन्य जिलों से आने वाले श्रद्धालुओं की संख्या जरूर कम थी। लोगों ने घाट पर पूजा-अर्चना भी की।