कर्नाटक में ड्रामा: तकिया-बिस्तर लेकर विधानसभा पहुंचे बीजेपी नेता, रातभर धरना देंगे

NEW DELHI: कर्नाटक में ड्रामा चल रहा है। ये कब तक चलेगा कोई नहीं जानता। कर्नाटक विधानसभा को शुक्रवार सुबह 11 बजे तक के लिए स्थगित कर दिया गया है। विधानसभा में कुमारस्वामी सरकार विधानसभा में अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा हो रही थी। हालांकि बीजेपी ने इसके बाद विरोध करने का मन बना लिया है और उसके नेता अभी भी सदन में रुके हुए हैं और कर्नाटक के मंत्री एमबी पाटिल और डीके शिवकुमार उन्हें समझाने पहुंचे हैं।

इससे पहले दिन में विधानसभा में बोलते हुए कर्नाटक के मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने कहा कि आज मैं इसलिए नहीं आया हूं कि ये सवाल उठ रहा है कि मैं गठबंधन सरकार चला सकता हूं या नहीं। बल्कि मैं इसलिए यहां पर हूं क्योंकि विधानसभा स्पीकर पर भी जबरन दबाव बनाया जा रहा है। कुमारस्वामी ने कहा कि विपक्ष को सरकार गिराने की काफी जल्दी है।

वहीं बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष बीएस येदियुरप्पा ने कहा कि हम 101 प्रतिशत आश्वस्त हैं। वे 100 से कम हैं, हम 105 हैं। इसमें कोई संदेह नहीं है कि उनकी हार होगी। गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को फैसला सुनाया था कि 15 बागी विधायकों को विधानसभा सत्र में भाग लेने के लिए मजबूर नहीं किया जा सकता है। दोबारा कार्यवाही की शुरुआत के बाद येदियुरप्पा ने यह भी कहा है कि चाहे आज रात के 12 बज जाएं लेकिन विश्वासमत पर आज ही फैसला हो।

अविश्वास प्रस्ताव पेश होने से पहले ही बहुजन समाज पार्टी (BSP)के विधायक महेश विधानसभा में होने वाले फ्लोर टेस्ट में शामिल नहीं होंगे। उनका कहना है कि कांग्रेस-जेडीएस सरकार ने इस संबंध में अभी तक मायावती से संपर्क नहीं किया है।गुरुवार को बीस विधायक सदन में नहीं आए। इनमें से 17 विधायक सत्ताधारी दल के हैं। जिनमें से 12 विधायक मुंबई के एक होटल में ठहरे हुए हैं।

पूरी बहस के दौरान सदन तीन बार स्थगित हुआ। पूरे दिन में मुश्किल सी अविश्वास प्रस्ताव पर कुछ भी बहस हो सकी। पूरे दिन कांग्रेसी विधायकों की नारेबाजी से सदन की कार्यवाही में व्यवधान पड़ता रहा। इस दौरान कर्नाटक के मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने यह भी पूछा कि आखिर इस सरकार को अस्थिर करने के लिए कौन जिम्मेदार है?