NCERT ने 9वीं की किताब से लोकतंत्र का चैप्टर हटाया,चुप रहे तो देश से ही हटा दिया जाएगा:कन्हैया

New Delhi: NCERT ने चुनाव के दौरान 9वीं की किताब से लोकतंत्र का पूरा चैप्टर ही हटा दिया है। अगर हम चुप रहे तो कल लोकतंत्र को पूरे देश से ही हटा दिया जाएगा। खतरा बड़ा है तो उसका सामना करने की तैयारी भी बड़ी होनी चाहिए। ट्वीट कर कन्हैया कुमार ने कहा- खतरा और बढ़ गया है। 

जो लोग नरेंद्र मोदी सरकार पर लोकतांत्रिक और लोकप्रिय आंदोलनों के प्रति असहमति जताने का आरोप लगाते हैं, उनके पास एक और हथियार आ गया है। सरकार द्वारा संचालित राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद (NCERT) ने नौवीं कक्षा के लिए राजनीतिक विज्ञान की किताब से ‘Democracy In the Contemporary World’’एक पूरा अध्याय ही हटा दिया है।

हालांकि, यह चैप्टर क्यों हटाया गया नई पाठ्यपुस्तक में यह भी उल्लेख नहीं है। वासुदेवन ने कहा कि यूपीए के दौरान भी इन पाठ्य पुस्तकों में बदलाव किए गए थे। कुछ कार्टूनों को लेकर हंगामा हुआ लेकिन एक उचित समीक्षा समिति गठित की गई जिसने पाठ्यपुस्तक से जुड़े सभी सलाहकारों और विशेषज्ञों से परामर्श किया। यह अजीब है कि पूरा चैप्टर हटाने के लिए किसी को जानकारी नहीं दी गई।

ट्विटर पर छलका प्रियंका का दर्द, कहा- मेहनत करने वालों की बजाय कांग्रेस ने गुंडों को तरजीह दी

इससे पहले कन्हैया कुमार ने ट्वीट कर कहा थ कि-  एयर इंडिया, BSNL, HAL के बाद अब भारतीय डाक विभाग की भी हालत खराब हो गई है और उसे 15,000 करोड़ रु. का घाटा हुआ है। देश यूं ही बर्बाद नहीं हो रहा, चौकीदार साहेब ने इसके लिए हर दिन 20 घंटे काम किया है, वह भी बिना कोई छुट्टी लिए। ये लड़ाई पढ़ाई और कड़ाही के बीच है- एक तरफ वे लोग हैं जो पढ़-लिखकर अपना और देश का भविष्य बनाना चाहते हैं तो दूसरी तरफ वे जो इन पढ़े-लिखे युवाओं से 200 रु दिहाड़ी पर पकौड़ा तलवाना चाहते हैं। किसी इंजीनियर का मजबूरी में खलासी बनना रोज़गार नहीं,बल्कि सरकारी नीतियों का अत्याचार है।