कंगना बोलीं- उद्धव ठाकरे तुमने मूवी माफिया से मिलकर मेरा घर तोड़ा है, कल तेरा घमंड टूटेगा

New Delhi : कंगना तो रानी लक्ष्मीबाई की अवतार में आ गईं हैं। अपना ऑफिस तोड़े जाने के बाद कंगना रनौत मुम्बई पहुंची और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को सीधा चैलेंज कर डाला। उन्होंने एक वीडियो ट‍्वीट किया- उद्धव ठाकरे तुमने मूवी माफिया के साथ मिलकर आज मेरा घर तोड़ा है, कल तुम्हारा घमंड टूटेगा। कंगना के इस खुली चुनौती के बाद महाराष्ट्र के पालिटकल सर्किल में भी सन्नाटा पसर गया है। राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के प्रमुख शरद पवार ने भी आज के पूरे घटनाक्रम पर आश्चर्य व्यक्त किया है। उन्होंने कहा कि कंगना के साथ ऐसा करने की कोई जरूरत नहीं थी। उनकी पार्टी के नेता और सरकार के गृहमंत्री अनिल देशमुख ने आज इस मसले पर अपना मुह नहीं खोला।

कंगना के साथ जिस तरह की नाइंसाफी हुई है उस पर गुस्सा होना लाजमी था। कंगना ने वीडियो ट‍्वीट किया – उद्धव ठाकरे तुझे क्या लगता है, मूवी माफिया के साथ मिल कर मेरा घर तोड़ कर तूने बड़ा बदला लिया है। आज मेरा घर टूटा है, कल तेरा घमंड टूटेगा। ये वक्त का पहिया है। हमेशा एक जैसा नहीं रहता। तूमने मुझ पर ऐहसान किया है। मुझे पता तो था कि कश्मीरी पंडितों पर क्या बीता होगा। आज मैंने महसूस किया है। आज मैं अपने देश को वचन देती हूं कि न सिर्फ अयोध्या पर बल्कि कश्मीर पर भी एक फिल्म बनऊंगी। और अब मैं देशवासियों को जगाऊंगी। उद्धव ठाकरे अच्छा किया जो मेरे साथ किया, क्योंकि इसके कुछ मायने हैं। जय हिंद, जय महाराष्ट्रा।
कंगना के इस बयान से सनसनी फैल गई है। बता दें आज बीएमसी ने कंगना का 45 करोड़ की लागत से बना ऑफिस तोड़ दिया। इस पूरे घटनाक्रम में मुम्बई हाईकोर्ट का रुख भी सामने आ गया है। हाईकोर्ट ने दफ्तर में तोड़फोड़ की कार्रवाई रोकने का आदेश दिया है। बीएमसी की कार्रवाई को गलत बताया है। 10 सितंबर को हाईकोर्ट में फिर सुनवाई होगी। इसके बाद सवाल यह है कि महाराष्ट्र की शिवसेना सरकार जो रायता फैला है उसको समेटेगी कैसे? यही नहीं जो करोड़ों का नुकसान हुआ, जो मलबा फैला है उसको कैसे ढंका जायेगा।

ऐसी पूरी संभावना बन गई है कि इस मलबे में ही शिवसेना कहीं न दब जाये। क्योंकि शिवसेना की उद्धव सरकार जो अभी कर रही है वो इमोशनल राजनीति, बदले की राजनीति है लेकिन इस मामले में पब्लिक इमोशन्स कंगना के पक्ष में नजर आ रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

one + = eight