कंगना बोलीं- संजय राउत ने मुझसे कहा कि तुम लौटकर मुम्बई नहीं आना, क्या मुम्बई नया POK है?

New Delhi : बॉलीवुड क्वीन कंगना रनौत ने आरोप लगाया है कि शिवसेना सांसद संजय राउत ने उनसे कहा है- हिमाचल से लौटकर मुम्बई नहीं आना। कंगना ने कहा- मैं ऐसी बातों से नहीं डरती लेकिन मैं पूछना चाहती हूं कि क्या मुम्बई नया पाक अधिकृत कश्मीर (POK) घोषित हो गया है। कंगना रनौत के तेवर बता रहे हैं कि शिवसेना सुशांत केस को लेकर एनेन्जाइटी में आ गई है। पार्टी सीबीआई, ईडी, एनसीबी की जांच को लेकर पूरी तरह से दबाव में है। कंगना ही हैं जो पिछले तीन महीने से जस्टिस फॉर सुशांत का झंडा बुलंद किये हुये है। वे रोज नये खुलासे कर रही हैं, जिसकी वजह से बॉलीवुड और पॉलिटिक्स की गंदगी लोगों के सामने आ गई है।

कंगना रनौत ने ट्वीट किया – शिवसेना के नेता संजय राउत ने मुझे धमकी दी है कि मुम्बई लौटकर नहीं आना। मैं पूछना चाहती हूं कि क्या मुम्बई नया पाक अधिकृत कश्मीर है। पहले सड़कों पर मेरे बारे में गंदे पेंटिंग पोस्टर बनाये गये और अब ये। दरअसल कंगना ने कहा था कि उन्हें मुम्बई पुलिस की सुरक्षा पर भरोसा नहीं खासकर सुशांत प्रकरण में मुम्बई पुलिस को देखने के बाद। जिसके बाद संजय राउत ने शिवसेना के मुखपत्र में लिखा- हम उनसे मुंबई न आने का अनुरोध करते हैं। यह मुंबई पुलिस का अपमान करने के अलावा और कुछ नहीं है। गृह मंत्रालय को इस पर कार्रवाई करनी चाहिये।
संजय राउत ने ऐसा करके हद पार कर दी है। उन्होंने साबित कर दिया है कि सुशांत प्रकरण में शिवसेना डूबती जा रही है और मुम्बई की गंदगी का एक बड़ा हिस्सा शिवसेना के खाते में है। कंगना के स्टैंड और सीबीआई, एनसीबी, ईडी की जांच से मुम्बई के रसूखदार परेशान हो गये हैं। पीआर कैम्पेन के जरिये कई न्यूज चैनलों पर शिवसेना सरकार की छवि ठीक करने और सुशांत केस की मुख्य आरोपी रिया चक्रवर्ती की इमेज बचाने, जांच की दिशा को प्रभावित करने के लिये सुशांत के परिजनों व कंगना के बारे में अनाप-शनाप बयानबाजी पर खबरें बनाई जा रही हैं। हद तो यह है कि इस पीआर कैंपेन में न्यूज चैनल जगत के बड़े नाम शामिल हैं।
इस पूरे प्रकरण में मुम्बई पुलिस की भूमिका बेहद संदेहास्पद हो गई है। पहले मुम्बई पुलिस ने सुशांत और दिशा सल्यान प्रकरण में सबूतों को नष्ट करने के लिये तमाम कोशिशें की। अब जब सीबीआई मामले की निष्पक्ष जांच कर रही है तो सुशांत के परिजनों को बदनाम करने के लिये मुम्बई पुलिस की अधूरी जांच रिपोर्ट पीआर कंपनी के माध्यम से न्यूज चैनल्स और मीडिया हाउस में पहुंच रहे हैं। सभी मीडिया हाउस सुशांत के परिजनों को बदनाम करने के लिये एक जैसी हूबहू रिपोर्ट चला रही हैं, जिनमें छानबीन नाम की चीज नहीं होती।

फिल्म इंडस्ट्री के कुछ लोग भी अनर्गल बयानबाजी कर इस पीआर टीम का हिस्सा बने हुये हैं। लेकिन इस बयानबाजी में दोयम दर्जे के कलाकार ही शामिल हैं। लेकिन जिस तरह से पीआर के प्रयास हो रहे हैं उससे साफ है कि पीआर पर भी करोड़ों रुपये फूंक दिये गये हैं। और ऐसा रिया चक्रवर्ती अपने दम पर कर पाने में सक्षम तो है नहीं। फिर कौन करा रहा है पीआर? यह बड़ा सवाल है और संजय राउत का रुख जवाब की ओर संकेत कर रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

76 − = seventy one