कंगना रनौत बोलीं- अगर निर्दोष साधुओं की जान लेने की प्रथा नहीं रुकी तो हमारे देश को शाप लगेगा

New Delhi : बॉलीवुड क्वीन कंगना रनौत ने मेरठ में साधु लिंचिंग पर अपनी भड़ास निकाली है। टीम कंगना ने इसको लेकर ट्वीट किया है- अगर निर्दोष आध्यात्मिक साधुओं की जान लेने की प्रथा नहीं रुकती है, तो उनका अभिशाप इस देश की हर आशा को नष्ट कर देगा। आरोप लगा है कि मेरठ में साधु कांति प्रसाद की अनस कुरैशी नामक व्यक्ति ने अपने सथियों के साथ मिलकर इसलिये जान ले ली कि उन्हें साधु द्वारा पहना गया भगवे रंग का गमछा पसंद नहीं था।

कंगना ने पालघर में साधुओं की जान लेने की घटना पर भी अपनी राय रखी थी। बहरहाल मीडिया हाउस टाइम्स नाउ की ताजा रिपोर्ट के अनुसार निष्पक्ष जांच के लिये पालघर मामले को केंद्रीय जांच ब्यूरो को ट्रांसफर करने के लिये सुप्रीम कोर्ट में एक जनहित याचिका भी दायर की गई है। रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि पालघर साधु लिंचिंग केस में दो अलग-अलग चार्जशीट दायर की गई है।

इधर कंगना ने ट्वीट में लिखा है- एक और साधु की भगवा रंग पहनने के लिये जान ले ली गई। इन संन्यासियों का शाप एक शांतिपूर्ण देश की हर छोटी से छोटी उम्मीद को नष्ट कर देगी। अगर हम निर्दोष आध्यात्मिक साधकों का आशीर्वाद नहीं लेते हैं, तो हमें भुगतना ही पड़ेगा।
कंगना फिलहाल लॉकडाउन शुरू होने के समय से ही परिवार और बहन के साथ मनाली में हैं। कंगना ने सुशांत सिंह राजपूत केस सामने आने के बाद मूवी माफिया और बॉलीवुड के गैंगबाजों के खिलाफ पिछले कुछ दिनों में खूब आवाज बुलंद किया। पूरे देश ने उनके आरोपों को सही बताया। आज उनकी वजह से ही सुशांत केस में राष्ट्रव्यापी तौर पर पब्लिक केंद्र सरकार से सीबीआई जांच की डिमांड कर रही है। कंगना ने करण जोहर को सुशांत केस का मुख्य गुनाहगार करार दिया। उनका मानना है कि इन लोगों ने सुशांत को षडयंत्र के तहत बदनाम किया और उनसे बड़े प्रोजेक्ट छीन लिये गये।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

− four = one