कंगना को Y-लेवल की सुरक्षा, बोलीं- अमित शाह जी को थैंक्स, बेटी के स्वाभिमान की लाज रख ली

New Delhi : बॉलीवुड क्वीन कंगना रनौत को केंद्र सरकार ने वाई श्रेणी की सुरक्षा मुहैया कराई है। देश के गणमान्य लोगों को सुरक्षा के दृष्टिकोण से यह सुविधा दी जाती है। पिछले दिनों शिवसेना ने कई बार कंगना रनौत को देख लेने की धमकी दी थी। शिवसेना की महिला ब्रिगेड ने मुम्बई की सड़कों पर कंगना के पोस्टरों पर जूते बरसाये थे। शिवसेना के पुराने रिकार्डस को देखते हुये लग रहा था कि शिवसेना कंगना के साथ कुछ भी गलत कर सकती है। वैसे भी महाराष्ट्र में सत्तारूढ़ शिवसेना इन दिनों को रिया चक्रवर्ती को लेकर बहुत परेशान है। ऐसा लग रहा है कि शिवसेना की जमीन ही खिसक गई हो। शिवसेना के इस रुख का कारण किसी के समझ से परे है।

बता दें कि कंगना रनौत ने सुशांत प्रकरण में बालीवुड के खिलाफ झंडा उठाया। उन्होंने इस मसले को सीबीआई तक पहुंचाने और रिया टीम को जेल तक पहुंचाने में अहम भूमिका निभाई। लगातार अपने विचार प्रकट करती रहीं और बॉलीवुड-पालिटिक्स से जुड़े एक से एक खुलासे करती रहीं। पहले तो कंगना से मूवी माफिया, नेपोकिड‍्स और इनके चापलूस ही परेशान दिखें। सबने एक अकेली कंगना के खिलाफ मोर्चा खोल दिया। लेकिन कंगना चुप होने और कमजोर होने की बजाय देश की आवाज बनती गईं। और अंतत: उनकी इस ताकत से निपटने के लिये शिवसेना को भी मैदान में कूदना पड़ा।
शिवसेना सांसद संजय राउत ने सीधे कंगना को मुम्बई न आने की धमकी दी। महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने भी कंगना रनौत को ही चेतावनी दी। ऐसा लग रहा था जैसे पूरी सरकार ही कंगना की जान लेने पर आमादा हो गई है। फिर भी कंगना रनौत टस से मस न हुईं और उन्होंने कहा- मैं 9 को मुम्बई आ रही हूं, किसी के बाप में हिम्मत हो तो रोक कर दिखाये।
कंगना के इस रुख से साफ हो गया कि टकराहट तय है। इसको भांपते हुये रविवार को हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री ने उन्हें कड़ी सुरक्षा मुहैया कराने की घोषणा की और आज सुबह केंद्र सरकार ने उन्हें वाई श्रेणी की सुरक्षा दी। न्यूज एजेंसी एएनआई ने सूत्रों के हवाले से यह जानकारी दी।

वाई श्रेणी की सुरक्षा किसी वीआईपी को मिलने वाली तीसरे लेवल की सुरक्षा होती है। इसमें 11 सुरक्षाकर्मी होते हैं। इनमें एक या 2 कमांडो और 2 पीएसओ शामिल होते हैं। कंगना ने सुरक्षा मिलने के बाद ट‍्वीट किया- ये प्रमाण है की अब किसी देशभक्त आवाज़ को कोई फ़ासीवादी नहीं कुचल सकेगा, मैं @AmitShah जी की आभारी हूँ वो चाहते तो हालातों के चलते मुझे कुछ दिन बाद मुंबई जाने की सलाह देते मगर उन्होंने भारत की एक बेटी के वचनों का मान रखा, हमारे स्वाभिमान और आत्मसम्मान की लाज रखी, जय हिंद।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

92 − = eighty eight