कमला हैरिस अमेरिका की उपराष्ट्रपति उम्मीदवार बनाईं गईं, भारतीय स्वतंत्रता सेनानी थे नाना

New Delhi : अमेरिका में डेमोक्रेटिक पार्टी से राष्ट्रपति उम्मीदवार जो बिडेन ने भारतीय मूल की कमला हैरिस को उपराष्ट्रपति पद की उम्मीदवार चुना है। मंगलवार को बिडेन ने ट्वीट किया- मेरे लिये यह घोषणा करना बहुत सम्मान की बात है कि मैने कमला हैरिस को चुना है। वह एक निडर फाइटर, देश की बेहतरीन जनसेवक हैं। वहीं राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने उनकी इस पसंद का मजाक उड़ाया है। ट्रंप ने कहा- कमला हमेशा जो को लेकर गलतबयानी करती हैं। उन्हें जो ने चुना, ये मेरे लिये आश्चर्यजनक है।

55 साल की कमला हैरिस की मां भारत की थीं और पिता जमैका के। कमला के नाना पीवी गोपालन भारत के स्वतंत्रता सेनानी थे जो आजादी के बाद सिविल सर्विसेज में आ ये। कमला अभी सीनेट की सदस्य हैं। वे कैलिफोर्निया की अटार्नी जनरल रह चुकी हैं। कमला हैरिस अमेरिका के उपराष्ट्रपति पद की पहली अश्वेत उम्मीदवार हैं। अब सात अक्टूबर को उनकी उपराष्ट्रपति माइक पेंस से डिबेट होगी। पेंस रिपब्लिक पार्टी की ओर से उपराष्ट्रपति पद के उम्मीदवार भी हैं। यह डिबेट ऊटा के साल्ट लेक सिटी में होनी है। अमेरिका में 3 नवंबर को राष्ट्रपति चुनाव होने हैं।
उनकी मां श्यामला गोपालन भारत के तमिलनाडु राज्य की थीं। वे कैंसर रिसर्चर थीं। कमला के पिता डोनाल्ड हैरिस जमैका के हैं। कमला हैरिस ने कहा कि जो बिडेन अमेरिकी लोगों को एकजुट कर सकते हैं क्योंकि, उन्होंने अपनी पूरी जिंदगी हमारे लिये लड़ने में बिताई है। राष्ट्रपति के तौर पर वह ऐसा अमेरिका बनायेंगे जो हमारे आदर्शों के मुताबिक होगा।

कमला हैरिस ने डेमोक्रेटिक पार्टी की तरफ से राष्ट्रपति चुनाव के लिये दावेदारी पेश की थी। हालांकि, प्राइमरी चुनावों में उन्हें बिडेन और बर्नी सैंडर्स के आगे करारी हार मिली थी। डेमोक्रेटिक कैंडिडेट की एक डिबेट में उन्होंने बिडेन पर नस्लवाद को बढ़ावा देने के आरोप लगाये थे। इसके बाद उन्हें चुनावों में कुछ बढ़त भी मिली थी, लेकिन फिर भी वे काफी पीछे रही थीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

− three = 6