रथयात्रा को मिली मंजूरी, कैलाश विजयवर्गीय बोले- यह फैसला अत्याचारी शासन के मुंह पर एक तमाचा

New Delhi: बीजेपी की रथ यात्रा पर आज कलकत्ता कोर्ट ने सुनवाई की। इस दौरान हाईकोर्ट ने राज्य सरकार के फैसले को पलटते हुए बीजेपी की प्रस्तावित रथ यात्रा को निकालने की मंजूरी दे दी। कोर्ट के फैसले पर खुशी जाते हुए बीजेपी नेता कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि हम इस फैसले का स्वागत करते हैं और हमें न्यायपालिका पर भरोसा था कि हमें न्याय मिलेगा। कोर्ट का यह फैसला निरंकुशता के मुंह पर तमाचा है।

आपको बता दें कि इससे पहले कलकत्ता हाई कोर्ट के सिंगल बेंच ने सुनवाई करते हुए बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह की प्रस्तावित रथ यात्रा पर रोक लगा दी थी। वहीं बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने हाल ही में दिल्ली के दीनदयाल उपाध्याय मार्ग स्थित पार्टी मुख्यालय में प्रेस कॉन्फ्रेंस बुलाई थी,  जिसमें उन्होंने टीएमसी पर निशाना साधते हुए कहा कि ममता सरकार ने लोकतांत्रिक प्रक्रिया को खत्म करने का काम किया है। ममता बनर्जी बीजेपी की रथ यात्रा से डरी हुई हैं। हमने कई बार सरकार से रथ यात्रा की इजाजत मांगी थी।

Kailash Vijayvargiya

अमित शाह ने आरोप लगाया कि ममता सरकार पश्चिम बंगाल में रोहिंग्या घुसपैठियों को अपनी शह दे रखी है। शाह ने कहा कि पंचायत चुनाव के बाद ममता बनर्जी की नींद उड़ी हुई हैं। इसलिए उन्होंने गणतंत्र बचाओ यात्रा को रोकने का निर्णय किया है। शाह ने कहा कि बंगाल के अंदर साल दर साल से जिस तरह से सरकार का कुशासन जारी है और उसके खिलाफ जबसे बीजेपी ने आवाज उठाना शुरु किया है ममता सरकार डरी हुई है।

बीजेपी अध्यक्ष ने कहा कि अगर यात्रा निकलेगी तो वहां पर बदलाव आएगा इसी से ममता बनर्जी डरी हुई है लेकिन हम अपने प्रोग्राम करेंगे। हम घर घर जाकर लोगों को ममता सरकार की हकीकत बताएंगे। हम रथयात्रा को लेकर कानूनी लड़ाई लड़ेंगे। हमारे कार्यक्रम रद्द नहीं हए हैं टाले गए हैं। दरअसल रथयात्रा की इजाजत न दिए जाने से बीजेपी ममता सरकार से काफी नाराज है। ममता सरकार इससे पहले भी अमित शाह का दौरा रद्द कर चुकी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *