JNU विवाद : बढ़ी फीस पर बीपीएल को 75% और अन्य छात्रों को 50% रियायत, समिति ने की सिफारिश

New Delhi: जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) में फीस बढ़ोतरी से राहत देने के लिए प्रशासन ने कदम आगे बढ़ाया है। प्रशासन ने छात्रों को उनकी आर्थिक स्थिति के आधार पर रियायतें देने का फैसला किया है। यह अपेक्षा की जा रही है कि 75% रियायतें बीपीएल श्रेणी के छात्रों को तो वहीं 50% रियायतें अन्य छात्रों को दी जाएंगी।

बीपीएल श्रेणी के छात्रों को उपयोगिता और सेवा शुल्क में 75% रियायतें मिलेंगी। वहीं शेष 50% रियायतें बड़े स्तर पर अन्य छात्रों को दी जाएंगी। ये रियायतें बड़े पैमाने पर छात्र समुदाय और हितधारकों को लाभ पहुचाएंगी। समुदाय और हितधारकों को मिलेंगी। फीस बढ़ोतरी मामले को लेकर मचे बवाल को शांत करने के लिए गठित एक उच्च-स्तरीय समिति ने इस संदर्भ में निर्णय लिया है।

समिति ने छात्र प्रतिनिधियों की प्रतिक्रियाओं पर विचार कर अपनी सिफारिशें ईमेल के माध्यम से छात्रों के कार्यालय के डीन को सौंपा है। इस समिति ने कई महत्वपूर्ण सिफारिशें की हैं जो विश्वविद्यालय के सभी छात्रों के हित में है। छात्रों की सभी चिंताओं को दूर करने का प्रयास किया गया है और उन्हेें लाभ देने की पुरजोर कोशिश की है।

साथ ही अन्य बढ़ोतरी में किसी भी प्रकार की कोई छूट नहीं दी गई है। कमरे के किराए में की गई बढ़ोतरी पर राहत नहीं दी गई है। सात सदस्यीय उच्च स्तरीय समिति का गठन विश्वविद्यालय के एक “सक्षम अधिकारी” द्वारा किया गया था। छात्र प्रतिनिधियों को इस समिति ने अपने सुझाव भेजने को कहा था।

एमएचआरडी द्वारा सभी हितधारकों के साथ परामर्श के बाद विश्वविद्यालय को सामान्य स्थिति में लाने के लिए गठित तीन-सदस्यीय समिति को अपनी रिपोर्ट प्रस्तुत करना बाकी है।