झारखंड : हेमंत सोरेन बोले धारा 370 के जरिए अपनी नाकामियों को छुपा रही है रघुबर सरकार

New Delhi : झारखण्ड में विधानसभा चुनावों की तारीख के ऐलान के बाद राजनीतिक पार्टियों के बीच जुबानी जंग शुरू हो गई है। इसी कड़ी में रविवार को झारखंड मुक्ति मोर्चा के अध्यक्ष और राज्य के पूर्व सीएम हेमंत सोरेन ने भाजपा पर निशाना साधा है। हेमंत सोरेन ने कहा भाजपा सरकार कश्मीर से 370 हटाने और बालाकोट स्ट्राइक जैसे मुद्दों के जरिए रघुबर दास सरकार की नाकामियों से लोगों का ध्यान हटाने का प्रयास कर रही है।

पीटीआई के अनुसार हेमंत सोरेन ने कहा कि झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) अभियान में लोगों के मुद्दों को उठाएगा। साथ ही वादा किया की अगर झारखण्ड में दोबारा सरकार में आये तो उनकी सरकार निजी नौकरियों में झारखंड के युवाओं के लिए 75 प्रतिशत आरक्षण सुनिश्चित करेगी।

उन्होंने कहा एक साल के भीतर पांच लाख नौकरियां सुनिश्चित की जाएगी, जो बेरोजगार हैं, उन्हें बेरोजगारी भत्ता दिया जाएगा, राज्य के लोगों के लिए 25 करोड़ रुपये तक का सरकारी टेंडर को आरक्षित करेंगे, नौकरियों में महिलाओं के लिए 50 प्रतिशत आरक्षण और अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) के लिए 27 प्रतिशत आरक्षण लागू किया जायेगा।

आपको बता दें 18 सितंबर को गृहमंत्री अमित शाह ने जामताड़ा में जन जन आशीर्वाद यात्रा को सम्बोधित किया था। इस दौरान उन्होंने अनुच्छेद 370 को लेकर झामुमो-कांग्रेस समेत अन्य विपक्षी दलों पर निशाना साधा था। उन्होंने कहा था अनुच्छेद 370 और बालाकोट स्ट्राइक पर विपक्ष अपनी स्थिति स्पष्ट करें कि वह सरकार के इस फैसले का समर्थन करते हैं या नहीं।

उन्होने कहा था काफी समय से मांग की जा रही थी झारखंड को अलग राज्य बनाया जाये इस मांग को अटल जी ने पूरा किया और झारखंड को अलग राज्य का दर्जा दिया। इसके अलावा झारखंड को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने समृद्ध किया। हमने पिछले 5 वर्षों में राज्य को बदल दिया है। यह सब इसलिए संभव हो सका क्योंकि राज्य और केंद्र में दोनों जगह भाजपा की सरकार है। साथ ही उन्होंने एक बार फिर से राज्य में भाजपा की सरकार बनाने के लिए जनता से आग्रह किया।