फाइनल में सुपर ओवर के रोमांच को नहीं सह पाए, निशाम के छक्के को देख कर ली उनके कोच ने आखरी सांस

New Delhi: विश्वकप के फाइनल में मैच टाई होने के बाद सुपर ओवर किया गया था। न्यूजीलैंड की ओर से बल्लेबाजी करने आए थे जिमी निशाम और गपटिल। न्यूजीलैंड विश्वकप फाइनल का खिताब नहीं जीत पाई जिसके बाद निशाम काफी निराश दिखाई दिए थे। अब जब विश्वकप खत्म हो गया है तब Jimmy Neesham से जुड़ी एक खबर सामने आ रही है। खबर ये कि जब विश्वकप का सुपर ओवर हो रहा था तब जिमी निशाम के कोच की मृ’त्यु हो गई थी।

न्यूजीलैंड के खिलाड़ी जिमी निशाम के कोच ने विश्वकप फाइनल के दिन आखिरी सांस ली। जिमी के कोच ऑकलैंड के ग्रामर स्कूल टीचर थे। कोच डेविड जेम्स गॉर्डन की बेटी लियॉनी गॉर्डन ने कहा कि ये बिल्कुल वैसा है जैसा वो जाना चाहते रहे होंगे। डेविड की बेटी ने बताया कि जब फाइनल का सुपर ओवर हो रहा था तब घर पर एक नर्स आई थी और उसने बताया था कि इनकी सांसे बदल रही हैँ। जब निशाम ने सुपर ओवर में स्टैंड में छक्का मारा था तभी उन्होंने आखिरी सांस ली।

Jimmy Neesham ने अपने कोच की म़’त्यू पर ट्वीट किया है – ‘डेव गॉर्डन, मेरे हाई स्कूल टीचर, कोच और दोस्‍त इस खेल के लिए आपका प्यार बहुत था। खासकर हमारे जैसे उन भाग्यशाली लोगों के लिए जिन्होंने आपके अंडर में खेला हो। उन्होंने साथ में यह भी कहा कि शायद आप गर्व कर रहे थे। हर एक चीज के लिए आपका शुक्रिया।’

जिमी निशाम नेे सुपर ओवर में न्यूजीलैंड की उम्मीदों को जीवित रखा था लेकिन खिताब नहीं मिल पाया-

गौरतलब है कि रविवार को सुपर ओवर में न्यूजीलैंड की तरफ से बल्लेबाजी करने आए जिमी नीशाम ने तेज गेंदबाज जोफ्रा आर्चर की तीसरी गेंद पर जोरदार छक्का मारकर कीवी टीम को जीत के मुहाने पर लाकर खड़ा कर दिया था। लेकिन अंतिम गेंद पर जब 2 रन चाहिए थे तब मार्टिन गुप्टिल रनआउट हो गए और मैच फिर से टाई हो गया और मेजबान इंग्लैंड ने नियम के मुताबिक़ विश्वकप खिताब पर पहली बार अपना कब्ज़ा जमा लिया। इस हार के साथ न्यूजीलैंड के पहली बार विश्वकप जीतने का सपना टूट गया।