झारखण्ड में भाजपा की क्लीन स्वीप, बुलंद किया झंडा

New Delhi

झारखण्ड लोकसभा चुनाव 2019 में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने बाजी मारते हुए अपना झंडा बुलंद किया है। भाजपा ने क्लीन स्वीप करते हुए अपने प्रतिदंव्दी को चारों खाने चित किया है। 14 लोकसभा सीटों के लिए हुए मतदान में भारी जीत हासिल की है। 12 सीट जीत भाजपा एक बार फिर सता में काबिज होगी। भाजपा चार दलों-कांग्रेस, झारखंड मुक्ति मोर्चा, जेवीएम (पी) और राष्ट्रीय जनता दल के महागठबंधन के खिलाफ थी।

चुनाव में उतरे कांग्रेस के बड़े-बड़े दिग्गजों को हार का सामना करना पड़ा है। भाजपा के दिग्गजों ने जीत का परचम लहराया है। धनबाद से भाजपा प्रत्याशी पीएन सिंह, कोडरमा से भाजपा प्रत्याशी अन्नपूर्णा देवी, हजारीबाग से पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा के बेटे और केंद्रीय-राज्य मंत्री जयंत सिन्हा को जीत हासिल हुई है। कोडरमा में 4 लाख 56 हजार 377 वोट से अन्नपूर्णा देवी को जीत मिली। पूर्व मुख्यमंत्री और झारखण्ड मुक्ति मोर्चा प्रमुख बाबूलाल मरांडी को उन्होंने हराया।  झारखण्ड में भाजपा ने पूरी तरह से कांग्रेस का सफाया किया है।

महागठबंधन को सिर्फ दो सीट में जीत नसीब हुई है। लोहरदगा से एकमात्र कांग्रेस प्रत्याशी सुदर्शन भगत ने जीत हासिल की है। भाजपा की इस जीत ने राजनीति का रूख बदल कर रख दिया है। राजधानी रांची से वरिष्ठ कांग्रेस नेता और प्रत्याशी सुबोधकांत सहाय कांग्रेस को जीत दिलाने में नाकामयाब रहे हैं। वहीं भाजपा से रांची प्रत्याशी संजय सेठ ने जीत दर्ज की है। भाजपा की इस जीत से विपक्षी पार्टियों के महकमें में घोर निराशा है। क्षेत्रिय दल झारखण्ड विकास मोर्चा और झारखण्ड मुक्ति मोर्चा पूरी तरह से विफल रहे हैं। इन चुनाव के नतीजों ने इनके साम्राज्य को खतरे में लाकर खड़ा कर दिया है। भाजपा की झारखंड इकाई के प्रवक्ता दिनदयाल बरनवाल ने राज्य में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और रघुबर दास की सरकारों के विकास के एजेंडे में पार्टी के प्रदर्शन को जिम्मेदार ठहराया।