जावेद मियांदाद बोले-शीर्ष श्रीलंकाई खिलाडियों के पाकिस्तान नहीं आने से हमें कोई फर्क नहीं पड़ता

New Delhi : पूर्व पाकिस्तानी क्रिकेटर Javed Miandad ने श्रीलंका क्रिकेट टीम के शीर्ष खिलाड़ियों पर एक बड़ी बात कही है। उन्होंने कहा कि “शीर्ष श्रीलंकाई खिलाडियों के पाकिस्तान नहीं आने से हमें कोई फर्क नहीं पड़ता है। मैं पाकिस्तानी टीम से आग्रह करता हूँ कि वे अपने खेल पर ध्यान दें और सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करें। मियांदाद ने पाकिस्तान दैनिक अखबार ‘डॉन’ के हवाले से कहा, “यह मायने नहीं रखता है कि श्रीलंका के खिलाड़ी किस दौरे पर जाते हैं और पाकिस्तान को टीम की गुणवत्ता पर ध्यान देना चाहिए और अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करना चाहिए।”

इस बीच, पाकिस्तान के पूर्व कप्तान ने महसूस किया कि श्रीलंका क्रिकेट (एसएलसी) को उन खिलाड़ियों के खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए, जिन्होंने अंतर्राष्ट्रीय टी20 लीगों को, अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट से ज्यादा महत्व दिया है। 62 वर्षीय पूर्व सलामी बल्लेबाज ने कहा, “अंतर्राष्ट्रीय मैचों में खिलाड़ियों के लिए सर्वोच्च प्राथमिकता देश होनी चाहिए और एसएलसी को पाकिस्तान श्रृंखला से बाहर होने वाले खिलाड़ियों को दंडित करना चाहिए।”

गौरतलब है कि श्रीलंकाई टीम आगामी 27 सितंबर से पाकिस्तान के दौरे पर रहेगी। जहाँ वो पाकिस्तान के खिलाफ 3 एकदिवसीय और 3 टी20 मैचों की सीरीज खेलेगी। यह श्रृंखला 27 सितंबर से लेकर 9 अक्टूबर तक चलेगी। लेकिन श्रीलंका के शीर्ष खिलाड़ियों टी20 कप्तान लसिथ मलिंगा, पूर्व कप्तान एंजेलो मैथ्यूज, दिनेश चांदीमल, सुरंगा लकमल, दिमुथ करुणारत्ने, थिसारा परेरा, अकिला धननया, धनंजया डी सिल्वा, कुसल परेरा और निरोशन डिकवेला ने सुरक्षा कारणों से पाकिस्तान दौरे पर नहीं जाने का फैसला किया है।

मियांदाद ने कहा कि सीमित ओवरों की श्रृंखला से पाकिस्तान को अपने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट कैलेंडर में अच्छी शुरुआत करने में मदद मिलेगी। जिसमें ऑस्ट्रेलिया और बांग्लादेश के खिलाफ श्रृंखला भी शामिल है।