जावेद अख्तर को धर्मनिरपेक्षता की रक्षा के लिये प्रतिष्ठित रिचर्ड डॉकिन्स सम्मान, पहले भारतीय

New Delhi : मशहूर शायर और गीतकार जावेद अख्तर को प्रतिष्ठित रिचर्ड डॉकिन्स पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। जावेद अख्तर यह पुरस्कार पाने वाले पहले भारतीय बन गये हैं। यह पुरस्कार विश्व प्रसिद्ध अंग्रेजी विकासवादी जीवविज्ञानी रिचर्ड डॉकिंस के नाम पर दिया जाता है। वर्ष 2003 से दिया जा रहा यह पुरस्कार विज्ञान, रिसर्च, शिक्षा या मनोरंजन के क्षेत्र के ऐसे प्रतिष्ठित व्यक्ति को दिया जाता है, जो सार्वजनिक रूप से लॉजिकल हो धर्मनिरपेक्षता की रक्षा के लिए प्रयास करता है।

अवार्ड के बारे में सोशल मीडिया पर पोस्ट करने के बाद अख्तर की पत्नी और अभिनेत्री शबाना आज़मी ने कहा – आज के समय में जब धर्मनिरपेक्षता खतरे में है तो इस पुरस्कार का महत्व और बढ़ जाता है।
आजमी ने न्यूज एजेंसी को बताया- मैं बहुत खुश हूं। मैं जानती हूं कि रिचर्ड डॉकिंस जावेद के लिए प्रेरणा देने वाले नायक की तरह रहे हैं। यह पुरस्कार इसलिये भी मायने रखता है क्योंकि आज के समय में जब सभी धर्मों के धार्मिक कट्टरपंथी धर्मनिरपेक्षता पर हमले कर रहे हैं तो यह पुरस्कार इस मूल्य की रक्षा के लिए जावेद के प्रयासों को बताता है।
जावेद अख्तर को पुरस्कार मिलने पर बॉलीवुड के कई हस्तियों ने बधाई दी है। सभी ट्वीट कर उनको बधाई दी। इरफान हबीब, नंदिता दास, अनिल कपूर और दिया मिर्जा ने ट्वीट कर जावेद अख्तर को इस पुरस्कार के लिए बधाई दी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

twenty nine − twenty six =