जापान करेगा भारत के पूर्वोत्तर राज्यों में 13000 करोड़ रुपये का निवेश

New Delhi:

जापान सरकार ने भारत के उत्तर-पूर्वी क्षेत्र में 205.784 बिलियन येन यानी लगभग 13000 करोड़ रुपये के बराबर निवेश करने का फैसला किया है। जापान सरकार द्वारा निवेश भारत के उत्तर-पूर्वी क्षेत्र के विभिन्न राज्यों में कई नई परियोजनाओं में किया जाएगा।

यह खुलासा एक बैठक के बाद हुआ जो 12 जून 2019 को राजदूत केंजी हिरामात्सू के नेतृत्व में जापानी प्रतिनिधिमंडल के साथ डोनर मंत्री जितेंद्र सिंह ने की थी।

जापान करेगा भारत के पूर्वोत्तर राज्यों में 13000 करोड़ रुपये का निवेश
जापान करेगा भारत के पूर्वोत्तर राज्यों में 13000 करोड़ रुपये का निवेश

जिन परियोजनाओं में जापान निवेश करेगा उसमें असम में गुवाहाटी जलापूर्ति परियोजना और गुवाहाटी सीवेज परियोजना, पूर्वोत्तर सड़क नेटवर्क कनेक्टिविटी सुधार परियोजना, असम और मेघालय में फैली पूर्वोत्तर नेटवर्क कनेक्टिविटी सुधार परियोजना, सिक्किम में जैव विविधता संरक्षण और वन प्रबंधन परियोजना, त्रिपुरा में सतत वन प्रबंधन परियोजना, मिजोरम में सतत कृषि और सिंचाई के लिए तकनीकी सहयोग परियोजना, नागालैंड में वन प्रबंधन परियोजना, आदि शामिल हैं।

डॉ। जितेंद्र सिंह ने पिछले तीन से चार वर्षों में पूर्वोत्तर क्षेत्र के विकास और परिवर्तन के लिए जापानी योगदान की सराहना की। उन्होंने कहा, आने वाले समय में, नए क्षेत्रों में भी साथ में काम करने की कोशिश की जाएगी, जिसमें बांस से संबंधित परियोजना पर जापान के साथ काम करना शामिल हो सकता है।

गौरतलब है कि यह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई वाली सरकार थी, जिसने 90 साल पुराने ब्रिटिश सरकार के “इंडियन फॉरेस्ट एक्ट ऑफ 1919” में संशोधन किया था, ताकि घर में उगने वाले बांस को इसके दायरे से बाहर निकाला जा सके।

 

Rahul Sahu

Trainee Content Editor at Live India
I have passed PG in journalism from IIMC. Presently, I am working for live India. I am looking forward to building my carrier in journalism as a copy editor. I love feature writing. Politics, crime, national and international news are some of my favourite beats.
Rahul Sahu