माेदी के दोस्त, जापान के PM शिंजो आबे ने जीता उच्च सदन चुनाव.. इतिहास रचेंगे आबे

NEW DELHI: जापान की संसद के उच्च सदन के लिए रविवार को वोट डाले गए, जिसमें प्रधानमंत्री शिंजो आबे (64) के सत्ताधारी गठबंधन को बहुमत प्राप्त हुआ। जापान की संसद के उच्च सदन की 124 सीटों के लिए मतदान हुआ है। उच्च सदन ‘हाउस ऑफ काउंसिलर्स’ में कुल 245 सीटें हैं, जिनमें से करीब आधे का चुनाव हर तीन साल पर किया जाता है। उच्च सदन प्रधानमंत्री का चुनाव नहीं करता। दो-तिहाई बहुमत यानी 164 सीटें प्राप्त करने के लिए आबे के गठबंधन को 85 अन्य सीटों की जरूरत होगी।

सबसे लंबे समय तक जापान के प्रधानमंत्री पद पर रहने का कीर्तिमान रचने की कगार पर पहुंच चुके आबे को अमेरिका के साथ व्यापार वार्ता और इस साल के अंत में उपभोग कर में होने जा रहे इजाफे से पहले अपना जनादेश और भी मजबूत होने की उम्मीद है। आबे की लिबरल डेमोक्रेटिक पार्टी और सहयोगी कोमीटो पार्टी को उच्च सदन में दो-तिहाई बहुमत हासिल करने के लिए इस चुनाव में 85 सीटें जीतनी थीं। लेकिन उन्हें 69 सीटें ही मिलीं। जापान के उच्च सदन में कुल 245 सीटें हैं। इनमें से आधी सीटों के लिए हर तीन साल में चुनाव होता है।

रविवार को 124 सीटों के लिए मतदान हुआ था, जिसके लिए 370 प्रत्याशी मैदान में थे। सत्तारूढ़ गठबंधन के पास उच्च सदन में पहले से 70 सीटें थीं। सदन में बहुमत होने के बावजूद यह गठबंधन संवैधानिक सुधारों की दिशा में आगे नहीं बढ़ सकता। दरअसल, संविधान में किसी भी संशोधन के लिए दो-तिहाई बहुमत की जरूरत होती है।

इस जीत के साथ आबे की पार्टी 2012 से लगातार पांच संसदीय चुनाव जीतने वाली पहली पार्टी बन गई। एबी को देश की अर्थव्यवस्था पटरी पर लाने व सुरक्षा को लेकर चिंता करने के लिए जाना जाता है। उत्तर कोरिया और चीन से जापान को ख’तरे है। चीन उसकी समुद्री सीमा के भीतर अक्सर दखल देता रहता है। आबे ने हाल के वर्षो में अपनी कूटनीतिक दक्षता प्रदर्शित करते हुए अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का विश्वास जीत लिया है। इसका फायदा उन्हें जापान की स्थानीय राजनीति में बहुत ज्यादा मिल रहा है। प्रधानमंत्री के तौर पर आबे का कार्यकाल 2021 में पूरा होगा।