जय हिंद : राष्ट्रसेवा में छलका निर्मल का दर्द – मैं अपनी बच्ची को गोद में उठाकर प्यार भी नहीं कर पाता

New Delhi : इंदौर से ऐसी तस्वीर सामने आयी है जिसे देखकर आपके आंसू छलक जाएंगे। यह तस्वीर है इंदौर में तैनात पुलिस इंस्पेक्टर निर्मल कुमार श्रीवास की। वे यहां तुकोगंज पुलिस स्टेशन के इंचार्ज हैं।
उन्होंने कहा – इस बीमारी के खिलाफ लड़ाई में हम सरकार के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़े हैं लेकिन एक बात पर अक्सर मुझे दुख होता है। जब भी मैं घर जाता हूं, सबसे अलग बैठकर खाना खाता हूं और मेरी बच्ची सिर्फ मुझे दूर से देखती रहती है। मैं अपनी बच्ची को गोद में उठाकर प्यार भी नहीं कर पाता। क्योंकि मुझे डर लगता है कि मेरी एक छोटी सी लापरवाही के कारण मेरी बेटी को यह बीमारी न हो जाए।
बहरहाल पुलिस इंस्पेक्टर निर्मल की फोटो सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रही है। अयोध्या के SSP Ashish Tiwari ने यह तस्वीर ट‍्वीट की और यह वायरल हो गया। इस तस्वीर में निर्मल खाना खाते हुए नजर आ रहे हैं और दूर खड़ी उनकी बेटी उन्हें देख रही है। बेटी और पिता के प्यार को दर्शाता यह फोटो देखने के बाद किसी के भी आंसू छलक जाएंगे।

मुंडल कराने के बाद सड़क पर पेट्रोलिंग के लिये उतरे जवान


इधर आगरा जिले की थाना फतेहपुर सीकरी पुलिस ने बालों को वायरस से बचाने के लिए मुंडन करा लिया। रविवार को इंस्पेक्टर सहित 75 पुलिसकर्मी मुंडन कराने के बाद गश्त पर निकले तो लोग हैरान रह गए।
थाने के प्रभारी निरीक्षक Bhupendra Singh Baliyaan ने बताया कि हमने देखा कि कई लोग मुंह पर मास्क लगाने के साथ सिर को भी ढके हैं। डॉक्टर ने बताया कि कोरोना वायरस सिर के बालों में भी चिपक सकता है। वहां से सांस के जरिए अंदर जा सकता है। इसलिए हमने मुंडन करा लिया। पूरा थाना सहमत था, इसलिए सभी पुलिसकर्मियों ने मुंडन कराया है। मुंडन के दौरान सोशल डिस्टेन्सिंग का पूरा ध्यान रखा गया।
रविवार सुबह मुंडन कराने वालों में प्रभारी निरीक्षक के अलावा निरीक्षक क्राइम अमित कुमार, नौ उपनिरीक्षक, 15 मुख्य आरक्षी और 49 आरक्षी शामिल हैं। मुंडन कराने के बाद ये सभी कस्बे में गश्त पर निकले। लोग इनके सिर पर बाल न देखकर चौंक गए।
पुलिसकर्मियों ने बताया कि यह कोरोना से बचने के किया है। लोगों से कहा कि आप भी एहतियात से रहिए। सामाजिक दूरी का पालन कीजिए। हाथ बार-बार साबुन से धोते रहें। इंस्पेक्टर का कहना है कि मुंडन कराना पुलिस प्रोटोकोल का उल्लंघन नहीं है। लंबे बाल रखना अनुशासन के खिलाफ है लेकिन छोटे कराना या मुंडन कराना नहीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

+ thirty four = forty three