आंध्र प्रदेश में नायडू का बड़ी हार, जगमोहन रेड्डी 30मई को लेगें मुख्यमंत्री पद की शपथ

New Delhi

आम चुनावों के साथ हुए आंध्र प्रदेश के विधानसभा चुनावों में वाईएसआर कांग्रेस ने राज्य में जबर्दस्त जीत हासिल की है। राज्य में विधानसभा की  175 सीटों में से 151 सीटों पर वाईएसआर कांग्रेस ने अपना ध्वज फहराया है। इसके बाद पार्टी अध्यक्ष जगमोहन रेड्डी को बधाई मिल रही हैं।

राज्य के सीनियर नौकरशाह जगमोहन रेड्डी से मिलने उनके अमरावती आवास पर पहुंचे हैं। सूत्रों के अनुसार जगमोहन रेड्डी 30मई को मुख्यमंत्री पद की शपथ ले सकते हैं। जगमोहन रेड्डी आंध्र प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री वाई.एस राजशेखर के पुत्र हैं।

जगमोहन रेड्डी का मुकाबला चंद्रबाबू नायडू की तेलगू देशम पार्टी से था। इस मुकाबले में 2014 में 67 सीटें जीतने वाली वाईएसआर कांग्रेस ने 151सीटों पर जीत दर्ज की। वहीं 102 सीटें जीतने वाली तेलगू देशम पार्टी मात्र 23 सीटों पर सिमटकर रह गई है।

विधानसभा चुनावों में वाईएसआर कांग्रेस को 49.9प्रतिशत मत प्राप्त हुए। वहीं सत्तारूढ़ टीडीपी को 39.2प्रतिशत मत प्राप्त हुए हैं। 2014 में आंध्रप्रदेश का विभाजन हुआ था और तेलगांना का उदय हुआ था। जगमोहन रेड्डी विभाजन के बाद गठित हुई विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष थे। जगमोहन रेड्डी ने वाईएसआर कांग्रेस का गठन 2011में किया था।

कांग्रेस को लगातार दूसरी बार नहीं मिलेगा नेता प्रतिपक्ष का पद

विधानसभा चुनावों में हार के बाद मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू ने जगमोहन को बधाई दी। नायडू ने अपनी हार को स्वीकर किया है और प्रदेश की जनता को नई सरकार के गठन की भी बधाई दी है।नायडू ने विधानसभा में मिली हार के बाद आज राज्यपाल से मिले और अपने पद से इस्तीफा दे दिया है।