नजरबंद चंद्रबाबू नायडू के बेटे ने कहा-जगन रेड्डी सरकार ने राज्य में लोकतंत्र की ह’त्या कर दी है

New Delhi: तेलुगु देशम पार्टी (टीडीपी) के नेता और आंध्र प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री नारा लोकेश ने बुधवार को कहा कि आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री जगन रेड्डी के नेतृत्व वाली सरकार तानाशाही हो गई है और उसने राज्य में लोकतंत्र की हत्या कर दी है। उनकी ये टिप्पणी उनके और उनके पिता को अपने ही घर में राज्य पुलिस द्वारा नजरबंद करने के बाद आई है। आज सुबह ही उन्हें रैली बुलाने के लिए हिरासत में रखा गया है।

नारा लोकेश ने कहा, “यह सरकार तानाशाही है, ‘तुगलक’ की तरह व्यवहार कर रही है। हमें अलोकतांत्रिक तरीके से रोका जा रहा है। हमने 100 दिन देखे हैं और हम इन 100 दिनों का हिसाब मांग रहे हैं।”

मई में सत्ता में आने के बाद टीडीपी ने वाईएसआर कांग्रेस पार्टी पर राजनीतिक हिंसा करने का आरोप लगाया था। इसमें आरोप लगाया गया है कि वाईएसआरसीपी के कैडरों ने उनकी पार्टी के आठ कार्यकर्ताओं की हत्या कर दी है और कई हमले किए हैं।

उन्होंने आगे कहा “हर टीडीपी नेता और पार्टी कार्यकर्ता को परेशान किया जा रहा है और उन्हें अपने संबंधित स्थानों को छोड़ने के लिए मजबूर किया जा रहा है। “सत्तारूढ़ पार्टी आंध्र प्रदेश में हमारी पार्टी का गला घोंटने की कोशिश कर रही है। हम लोकतांत्रिक तरीके से आगे बढ़ रहे थे लेकिन हमारे पूरे नेतृत्व को नजरबंद कर दिया गया। यह लोकतंत्र की हत्या है” नारा ने कहा।

बता दें आंध्रप्रदेश में पिछले कई दिनों से राजनीतिक माहौल गर्म है जिसका आज चरम रूप देखने को मिला। विपक्ष में बैठी तेलुगु देशम पार्टी (टीडीपी) सत्ता पक्ष द्वारा किए जा रहे कथित अत्याचारों के विरोध में पिछले कई दिनों से चलो अत्माकुर रैली निकालने की तैयारी बना रहे थे जिसमें बुधवार को आंध्रप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू और उनके बेटे भी शामिल होने वाले थे। इसे देखते हुए आंध्र पुलिस ने सुरक्षा कारणों का हवाला देते हुए पिता और बेटे को हिरासत में लिया। पुलिस ने दोनों को उनके घर से निकलने और रैली में शामिल होने से पहले ही उनके अपने निवास में नजर बंद कर लिया।