चुनाव आयोग के निर्णय से छिड़ सकता है गृह यु’द्ध-आप विधायक

(New Delhi) आम आदमी पार्टी प्रवक्ता और दिल्ली के ग्रेटर कैलास से विधायक सौरभ भारद्वाज ने चुनाव आयोग द्वारा वीवीपीएटी पर्चियों की गिनती को लेकर दिए गए निर्णय पर एक ट्वीट करते हुए लिखा है कि,”चुनाव आयोग का ये निर्णय भयावह है,उसके इस निर्णय से दंगे भड़क सकते हैं और गृह यु’द्ध भी छिड़ सकता है।जब राजनितिक पार्टियों को पता है की कौन जीतेगा कौन हारेगा तो इस स्थिति में उनके जीतने के बाद भी अगर वीवीपीएटी की पर्चियां मिसमैच होती हैं तो भी उनको कोई फर्क नहीं पड़ेगा। भारत को बचाओ।

आपको बता दें कि चुनाव आयोग ने आज सुबह ही विपक्षी दलों की वीवीपीएटी सम्बन्धी याचिका खारिज कर दी है। बीते मंगलवार को 21 विपक्षी दलों ने वीवीपीएटी पर्चियों के मिलान करने को लेकर चुनाव आयोग को ज्ञापन सौंपा था। चुनाव आयोग की आज हुई बैठक में इस मांग को खारिज कर दिया गया है। आयोग ने विपक्षी पार्टियों की उस मांग को खारिज कर दिया है जिसमें 50 फीसदी पर्चियों के मिलान की बात कही जा रही थी। आयोग ने कहा कि मिलान की प्रक्रिया में कोई बदलाव नहीं किया जाएगा।

चुनाव आयोग ने कहा है कि अगर हम 50 फीसदी पर्चियों की मिलान करेंगे तो लोकसभा चुनाव के नतीजे घोषित होने में 6-7 दिनों की देरी हो सकती है। आपको बता दें कि 23 मई को लोकसभा चुनाव के नतीजे आएंगे।हालाँकि 8 अप्रैल 2019 को सर्वोच्च न्यायालय ने एक फैसले में कहा था की चुनाव आयोग प्रत्येक विधानसभा के पांच पोलिंग बूथ के वीवीपीएटी पर्चों का मिलान अवश्य करेगी।