ISRO ने कार्टोसेट -3 और 13 नैनोसैटेलाइट ले जाने वाले PSLV-C47 को किया लॉन्च

New Delhi: इसरो के कार्टोसेट-3 उपग्रह को श्रीहरिकोटा से लॉन्च कर दिया गया है। आसमान में भारत की आंख कहे जाने वाले कार्टोसेट सीरीज के इस नए-नवेले उपग्रह को सफलतापूर्वक लॉन्च किया गया है। आंध्र प्रदेश के श्रीहरिकोटा में स्थित भारत के स्पेसपोर्ट से इस उपग्रह को उड़ान दिया गया है।

कार्टोसेट -3 इसरो की तीसरी पीढ़ी का उपग्रह है जिसमें हाई-रिज़ॉल्यूशन इमेजिंग क्षमता है। इसे दुश्मन की हर गतिविधि पर पैनी नजर रखने के लिए तैयार किया गया है। भारत का ध्रुवीय उपग्रह प्रक्षेपण यान (PSLV-XL) रॉकेट, उपग्रह कार्टोसेट -3 और 13 अमेरिकी नैनोसेटलाइट के साथ लॉन्च हुआ है।

लगभग सुबह 9.28 बजे, 44.4 मीटर लंबाई और 320 टन वजन के साथ PSLV-C47 रॉकेट ने अपनी मंजिल तय की है। बादल छाने के बावजूद इस महत्वकांक्षी उपग्रह का सामान्य तरीके से सफल प्रक्षेपण हुआ है।

इसरो ने इस सफल प्रक्षेपण पर कहा है कि हाल ही में बनाई गई व्यावसायिक शाखा न्यू स्पेस इंडिया लिमिटेड ने पहले ही 13 अमेरिकी नैनोसैटलाइट प्रक्षेपित करने के लिए समझौता किया था। करीब 1625 किलोग्राम वजनी कार्टोसेट-3 को 509 किलोमीटर दूर कक्षा में स्थापित किया जाएगा। कार्टोसेट-3 की आयु पांच वर्ष होगी।

0.25 मीटर के ग्राउंड रिज़ॉल्यूशन और 1 मीटर ग्राउंड रिजॉल्यूशन या ग्राउंड सैंपल डिस्टेंस (जीएसडी) के साथ यह साफ सुथरी तस्वीरें लेने में सक्षम है।