26 जनवरी से पहले देश के कई शहरों पर थी IS की नजर, ATS अधिकारियों ने किया नाकाम

New Delhi: देश में एक 26 जनवरी को लेकर भव्य तैयारी चल रही हैं। वहीं इस शानदार और खूबसूरत पर्व पर IS की नजर भी बनी हुई हैं। लेकिन ATS के अधिकारीयों ने IS की साजिश को नाकाम करते हुए एक बड़ी कामयाबी हासिल की है।

 

ATS ने नाकाम की बड़ी आतंकी साजिश

एक तरफ जहां देश में 26 जनवरी को लेकर भव्य तैयारी चल रही है, तो वहीं आतंकी इस भव्य कार्यक्रम में खलल पैदा करने की साजिश रच रहे हैं। महाराष्ट्र पुलिस के आतंकवाद रोधी दस्ते (ATS) ने इस्लामिक आतंकी संगठन आईएसआईएस से सम्बंध रखने और आतंकी साजिश को अंजाम देने की फिराक में लगे 9 संदिग्ध युवकों को गिरफ्तार किया है. बताया जा रहा है कि इनमें से 4 औरंगाबाद से और 5 युवक ठाणे के मुम्ब्रा से पकड़े गए हैं. उनमें से एक नाबालिग भी है, जिसकी उम्र 17 साल बताई जा रही है।

ATS arrest Is

26 जनवरी के पर्व पर थी IS की नजर

सुरक्षा अधिकारियों को बड़ी कामयाबी हाथ लगी जिमसे बड़ी आतंकी साजिश रचने का खुलासा हुआ है। अधिकारियों ने बताया कि दो दिसंबर को अवैध तौर पर देशी पिस्तौ’ल और पांच कारतूस रखने के लिए शस्त्र कानून के तहत कर्नाटक निवासी हरपाल सिंह नगरा (42) को पुणे जिले में चाकन से गिरफ्तार किया गया. पूछताछ के दौरान आरोपी ने बताया कि वह आजाद खालिस्तान का समर्थक है और इंटरनेट के जरिए हथि’यार खरीदारी में संलिप्त था और सोशल मीडिया के जरिए युवाओं को कट्टर बनाता था।

पहले भी पकड़े गए IS संदिग्ध

जाहिर है कुछ दिनों पहले भी बड़ी आतंकी साजिश को नाकाम करते हुए ATS ने कुछ संदिग्धों को पकड़ा था। बता दें कि महाराष्ट्र एटीएस ने ही पिछले साल मुंबई से सटे नालासोपारा में सनातन संस्था से जुड़े एक पदाधिकारी वैभव राउत को गिरफ़्तार किया था, ATS सूत्रों के हवाले से मिली खबर के मुताबिक वैभव राउत के घर से 20 देसी ब’म और दो जिलेटिन स्टिक मिली थी। एटीएस से पूछताछ के बाद दो अन्य आरोपियों को गिरफ्तार किया था।