बड़े-बड़े नेताओं को जेल की हवा खिलाने वाले IPS मधुकर नहीं रहे, भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ी लड़ाई

New Delhi: पुलिस महकमे के लिए एक बुरी खबर सामने आई है और प्रशासन के एक धाकड़ ऑफिसर इस दुनिया को अलविदा कह गए। धाकड़ और भ्रष्टाचारियों के खिलाफ सख्त एक्शन लेने वाले ऑफिसर मधुकर शेट्टी अब इस दुनिया में नहीं रहे। आपको बता दें कि, मधुकर का ऐसा रुतबा था जिससे बड़े-बड़े से नेता भी कांप उठते थे। मधुकर ने अपने कार्यकाल में कई बड़े नेताओं को जेल की हवा खिलाई है।

 

नेताओं को जेल की हवा खिलाने वाले आईपीएस मधुकर शेट्टी नहीं रहे

मधुकर शेट्टी एक ऐसे अधिकारी रहे जिसके आगे बड़े-बड़े नेता भी कांपते थे। लोकायुक्त में एसपी रहते हुए उन्होंने भ्रष्ट अधिकारियों, कर्मचारियों यहां तक कि सत्ता में बैठे बड़े नेताओं के खिलाफ भी ताबड़तोड़ कार्रवाई की थी। बाद में जब उन्हें लगा कि लोकायुक्त के चीफ जस्टिस संतोष हेगड़े भेदभावपूर्ण तरीके से फैसले ले रहे हैं तो उन्होंने पढ़ाई के लिए 5 साल की लंबी छुट्टी ले ली। कर्नाटक में भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई में संतोष हेगड़े का भी बड़ा नाम है। कल तक यह खबर थी कि, मधुकर को स्वयं फ्लू है और वह अपना इलाज करवा रहे हैं। लेकिन अब पुलिस महकमे के लिए बुरी खबर सामने आई है। यूएस में पढ़ाई के दौरान शेट्टी ने हेगड़े की खुले तौर पर आलोचना की। शेट्टी का आरोप था कि हेगड़े के विचारों में पारदर्शिता नहीं थी। उन्होंने दिसंबर, 2016 में दोबारा जॉइन किया। बताया जाता है कि, मधुकर ने अपने कार्यकाल में कई बड़े नेताओं को जेल की हवा खिलाई है।

Madhukar shetty

पुलिस महकमे में शोक की लहर

देश के दिग्गज आईपीएस अधिकारीयों में से एक मधुकर शेट्टी के निधन की खबर से कर्नाटक और हैदराबाद दोनों ही राज्यों के पुलिस महकमे में शोक की लहर है। इलाज के दौरान हेल्थ अपडेट्स को तेलंगाना के मुख्य सचिव शैलेंद्र कुमार जोशी और डायरेक्टर जनरल और इंस्पेक्टर जनरल ऑफ पुलिस महेंदर रेड्डी व्यक्तिगत तौर पर मॉनिटर कर रहे थे। वहीं, कर्नाटक के मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी के आदेश पर राज्य के एडीजी, क्राइम प्रताप रेड्डी बुधवार से हैदराबाद स्थित अस्पताल में ही थे। रिपोर्ट के मुताबिक़, शुक्रवार रात करीब 9:30 बजे हैदराबाद के कॉन्टिनेंटल अस्पताल में अंतिम सांस ली। जानकरी के लिए बता दें कि, मधुकर कर्नाटक काडर के 1999 बैच का आईपीएस अधिकारी थे।