3 इडियट्स के वायरस से प्रेरित रायपुर की काव्या चावड़ा ने दोनों हाथों से लिखने में महारत की हासिल

New Delhi: अक्सर यह कहा जाता है कि भारत एक ऐसी भूमि है जहाँ के हर कोने में टैलेंट छुपा हुआ है। ऐसा ही एक वाकया हम आपको बताते हैं। बॉलीवुड की ब्लॉकबस्टर फिल्म ‘3 इडियट्स’ से प्रेरित होकर, रायपुर की एक किशोर लड़की ने एक ही समय दोनों हाथों से लिखने की अनूठी स्किल में महारत हासिल की है। एक हाथ से वह सामान्य लिपि में लिखती है और दूसरे हाथ से उसका उल्टा, यानी ‘मिरर राइटिंग’ करती हैं। लड़की का नाम काव्या चावड़ा है।

इस स्किल के बारे में ANI से बात करते हुए, काव्या ने कहा, “इसमें बहुत एकाग्रता की जरूरत होती है, लेकिन मैं पिछले तीन – चार सालों से यह अभ्यास कर रही हूं। मैं अपने दूसरे हाथ से कुछ लिखते हुए भी मिरर राइटिंग कर सकती हूं। मुझे यह आइडिया फिल्म ‘3 इडियट्स’ से मिला, जिसमें वायरस अपने दोनों हाथों से लिख सकता था। ”

कक्षा 7 की छात्रा काव्या ने दावा किया है कि वह हिंदी और अंग्रेजी दोनों भाषाओं में एक ही तरह की मिरर राइटिंग कर सकती है।

उसने कहा, “पहले मैंने अंग्रेजी में इस तरह लिखना सीखा और फिर इसे हिंदी में भी लिखना शुरू कर दिया। मैं इसके माध्यम से यह संदेश देना चाहती हूं कि ऐसे समय में जब लोग अंग्रेजी सीखने के पीछे भाग रहे हों, तो हमें अपनी भाषा को बढ़ावा देना चाहिए।”

काव्या ने आगे कहा कि वह पढ़ाई पूरी करने के बाद हर दिन मिरर राइटिंग का अभ्यास करती थी।

इस बीच, काव्या की मां नेहा चावड़ा ने कहा, “मैं उसे पढ़ाई के बाद आराम करने के लिए कहती थी लेकिन वह अभ्यास करती रहती। हमें केवल छह महीने पहले ही उसके इस टैलेंट के बारे में पता चला। वह हिंदी को बढ़ावा देना चाहती है।”

अपनी बेटी का समर्थन करते हुए, लड़की के पिता, प्रितेश चावड़ा ने कहा, “यह गर्व की बात है कि उसके पास ऐसा अनोखा टैलेंट है। मैं उसकी बातों का समर्थन करता हूं।”

मिरर राइटिंग एक असामान्य स्क्रिप्ट है, जिसमें लेखन सामान्य से विपरीत दिशा में चलता है। इसमें अक्षर उलटे होते हैं, ताकि मिरर का उपयोग करके इसे आसानी से पढ़ा जा सके।

कॉलेज के दीक्षांत समारोह में बुर्के में पहुंची टॉपर, ड्रेस बदलने को कहा तो बिना डिग्री लिए लौटी