भारतीय परंपरा पूरी दुनिया में : अहम-वहम त्यागकर डोनाल्ड ट्रम्प को भी आख़िर बोलना ही पड़ा – नमस्ते जी

New Delhi : Corona Virus के संक्रमण के खतरे से बचने के लिये पूरी दुनिया को भारतीय संस्कार अपनाना पड़ रहा है। USA केराष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प को भी आख़िरकार बोलना ही पड़ानमस्ते जी। और देखते ही देखते ये पूरी दुनिया की सबसे बड़ी खबर बन गईकि अमेरिकी प्रेसिडेंट को भी अहमवहम त्यागकर भारतीय परंपरा का अनुसरण करना ही पड़ा।

अमेरिकी प्रेसिडेंट डोनाल्ड ट्रंप और वॉशिंगटन की यात्रा पर आए आयरलैंड के प्रधानमंत्री लियो वराडकर ने गुरुवार को यहां वाइट हाउसमेंनमस्तेकह कर एक दूसरे का भारतीय परंपरा से अभिवादन किया। ट्रंप ने कहा कि कोरोना वायरस के चलते यह जरूरी है। ओवलहाउस (अमेरिकी राष्ट्रपति के कार्यालय) में पत्रकारों से पूछा कि वे कैसे एक दसरे का अभिवादन करेंगे, तब ट्रम्प और भारतीय मूल केवराडकर ने हाथ जोड़ कर एक दूसरे को नमस्ते किया।

ट्रम्प ने कहाआज हम हाथ नहीं मिलाएंगे। हम एक दूसरे को देख कर कहंगे कि हम क्या करेंगे। आप जानते हैं इससे थोड़ा अजीबएहसास होगा।

जब एक अन्य पत्रकार ने पूछा कि क्या वे हाथ मिलाएंगे, तब वराडकर ने हाथ जोड़कर नमस्ते किया और पत्रकारों को दिखाया कि कैसेवह राष्ट्रपति का अभिवादन करेंगे। ट्रम्प ने भी हाथ जोड़कर नमस्ते किया।

ट्रम्प ने कहामैं हाल में भारत से लौटा हूं और वहां मैं किसी से हाथ नहीं मिलाया और यह आसान था क्योंकि वहां ऐसा ही है। इसकेसाथ ही उन्होंने दूसरी बार नमस्ते के लिए हाथ जोड़े। ट्रम्प ने अभिवादन के जापानी तरीके को भी दिखाया। उन्होंने कहा, ‘वे (भारत औरजापान) सिर झुकाते हैं। उन्होंने टिप्पणी की कि झुकने और नमस्ते कहने से उन्हें अजीब सा अनुभव होता है। अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहायह बहुत अजीब लगता है जब लोग आपके सामने से गुजरते हैं औरहायकहते हैं। इससे पहले फ्रांस के प्रेसिडेंट, प्रिंस चार्ल्स, बेंजमिन नेतनयाहू जैसी तमाम बड़ी शख़्सियत भी भारतीय परंपरा का अनुसरण करने की घोषणा कर चुकी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

6 + two =