मोदी सरकार का बड़ा फैसला,अब रेलवे की सुरक्षा करेंगे कोरस कमांडो

New Delhi : भारतीय रेलवे अब देश के महत्वपूर्ण रेल क्षेत्रों में ट्रेनों में यात्रियों और सामानों की सुरक्षा के लिए क’मांडो तैनात करने जा रही है। भारतीय रेलवे ने स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर, वा’मपंथी उ’ग्रवा’दियों, आतंकवादियों और विध्वं’सक तत्वों से देश के रेल नेटवर्क के लिए खतरों से निपटने के लिए अपनी सर्वश्रेष्ठ क’मांडो इकाई की शुरुआत की।

भारतीय रेलवे अपनी पहली कमांडो यूनिट (CORAS ) को कश्मीर में तैनात करेगा। रेलवे सुरक्षा बल (आरपीएफ) के प्रमुख ने बुधवार को कहा। कश्मीर में यह कमांडो यूनिट घाटी को भारत के बाकी हिस्सों से जोड़ने वाली रेल परियोजनाओं को समय पर पूरा करना सुनिश्चित करेगा।

आरपीएफ के महानिदेशक अरुण कुमार ने कहा इन कोरस कमांडो को देश के महत्वपूर्ण और संवेदनशील क्षेत्रों में तैनात किया जाएगा उन्होंने कहा कि बल को न’क्सल प्रभावित क्षेत्रों, जम्मू और कश्मीर और उत्तर पूर्वी राज्यों जैसे त्रिपुरा और मणिपुर के हिस्सों में ट्रेनों पर तैनात किया जाएगा।

उन्होंने कहा रेलवे सुरक्षा बल (आरपीएफ) और रेलवे सुरक्षा विशेष बल (आरपीएसएफ) के कर्मियों की तुलना में, कोरस आरपीएफ के महानिदेशक के नेतृत्व में काम करेगी। रेलवे सुरक्षा के स्पेशल कोरस कमांडो बुलेट-प्रूफ जैकेट, हेलमेट और अत्याधुनिक ह’थियारों से लैस है।

अधिकारी ने कहा कि आरपीएसएफ की 14 बटालियन हैं और इसकी एक बटालियन को कोरस में परिवर्तित कर दिया गया है। इन कोरस कमांडो को एनएसजी अकादमी और ग्रेहाउंड्स में प्रशिक्षित किया गया है। आपको बता दें ग्रेहाउंड नक्सलियों के खि’लाफ वि’द्रोह वि’रोधी अभियानों में माहिर हैं।