'आधार' आधारित DBT से मोदी सरकार को हुआ बड़ा फायदा, अब तक 90 हजार करोड़ की हुई बचत

'आधार' आधारित DBT से मोदी सरकार को हुआ बड़ा फायदा, अब तक 90 हजार करोड़ की हुई बचत

By: Manish Mishra
July 11, 16:55
0
New Delhi: आधार से जुड़ी डीबीटी प्रणाली शुरू होने के बाद मोदी सरकार को करोड़ों रूपए की बचत हुई है।

भारत विशिष्ट पहचान प्राधिकरण(UIDAI) के चेयरमेन जे सत्यनारायण ने इंडिया स्कूल ऑफ बिजनेस के एक कार्यक्रम में बुधवार को कहा की आधार से जुड़ी प्रत्यक्ष लाभ अतंरण यानी डीबीटी की प्रणाली शुरू होने के बाद सरकार को इस साल 31 मार्च तक 90 हजार करोड़ रूपयों की बचत हुई है। जबकि हमने अभी तक आधार कार्ड और उससे संबंधित प्रणालियों पर 10 हजार करोड़ रूपए भी खर्च नहीं किए है। 

सत्यनारायण ने कहा कि इससे बचत काफी अधिक हुई है। इस साल 31 मार्च तक सार्वजनिक वितरण प्रणाली सहित अन्य योजनाओं के लिए आधार पहचान संख्या से जुड़़ी डीबीटी व्यवस्था अपना कर हम 90,012 करोड़ रुपए की बचत कर पाए हैं।

उन्होंने कहा कि देशभर में अभी तक आधार कार्ड के लिए 121 करोड़ लोगों का नामांकन हो चुका है। इस पहचान प्रणाली का इस्तेमाल कर औसतन तीन करोड़ ई-लेनदेन किए जा रहे हैं। जिससे देश की अर्थव्यवस्था को व्यापक लाभ पहुंच रहा है। 
 

सत्यनारायण ने कहा कि आधार प्रणाली में आर्टिफिशल इंटेलिजेंस, धोखाधड़ी पकड़ने के लिए मशीन ज्ञान और नामांकन तथा सुरक्षा पारिस्थितिकी प्रणाली में सुधार के लिए शोध करने की जरूरत है। उन्होंने बताया कि आधार आंकड़े पूरी तरह सुरक्षित हैं। इन्हें बेंगलुरु और मानेसर में करीब 7,000 सर्वरों में रखा गया है।
 

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।