35 साल बाद हुआ मां-बेटी का मिलन, 3 साल की मेहनत के बाद मंदिर में मिली मां

35 साल बाद हुआ मां-बेटी का मिलन, 3 साल की मेहनत के बाद मंदिर में मिली मां

By: Pooja gour
July 11, 10:05
0
NEW DELHI: जिंदगी हर पल कुछ नये रंग दिखाती हैं। कुछ रंग ऐसे होते हैं जो किसी चमत्कार से कम नहीं होते।

चेन्नई की रहने वाली सोनिया की जिंदगी में एक ऐसा ही चमत्कार था, जिसकी कोई कल्पना भी नहीं कर सकता हैं। जिस मां को सोनिया ने कभी बचपन में देखा था आज 35 बाद वो उसे मिल गई। अपनी मां और भाई दोनों के वापिस मिल जानें से सोनिया की खुशी का ठिकाना नहीं हैं आज वो भगवान का तहे दिल से शुक्रिया कह रही है। 

दरअसल सोनिया के माता-पिता, दोनों मानसिक रूप से अक्षम थे जिसके बाद सोनिया को अपने दादा दादी के पास छोड़ दिया गया। जब वो अपने दादा- दादी के पास आई तो वो कुछ ही महीने की थी। जब तक वह आठ वर्ष की हो गई, तब तक उसके दादा दादी भी निधन हो गया। सोनिया और उसके भाई ने अपने मामा के साथ रहने का सोचा। लेकिन मामा ने सोनिया को घऱ में जगह देने से इंकार कर दिया। फिर सोनिया ने  बैनयन एनजीओ में काम करने लगी। यहां पर वह हाउसकीपिंग, मरीजों की देखभाल और किचन के काम करतीं।

डॉ. शांता ने बताया, 'बीते तीन वर्षों से हम लोग सोनिया के माता-पिता को खोज रहे थे। सोनिया ने बताया कि उसकी मां श्री राघवेंद्र स्वामी मंत्रालयम मंदिर कर्नाटक में काम करती थी। उन्हें लगा कि आज भी वो शायद वहीं काम करती होगी। पिछले हफ्ते जब हम व्यक्तिगत यात्रा पर मंदिर गए तो देखा कि वहां परसादम काउंटर पर एक महिला सेवा कर रही थीं। मुझे अचानक लगा कि शायद यह सोनिया की मां हो सकती हैं। वह वहां गईं और पूछताछ के बाद पता चला कि वह वास्तव में सोनिया की मां थीं। ये किसी भी चमत्कार से कम नहीं था।

उसके बाद बैनयन के निदेशक डॉ. केवी किशोर कुमार की मदद से वह सोनिया की मां मालती राव और भाई उदय को बैनयन लेकर आईं। मंगलवार को सोनिया अपनी मां से मिली तो दोनों की आंखों में खुशी के आंसू छलकते रहे। सोनिया ने बताया कि कई वर्ष बीत जाने के बाद भी उसे अपने माता-पिता का चेहरा याद था। अब उन्हें अपने साथ ही रखेगी और उनकी देखभाल करेगी। द बानियन के सहायक निदेशक कमला ईश्वरन कहते हैं, "समावेशी समुदाय को रहने वाले स्थानों में निवेश की आवश्यकता है जो उन लोगों के लिए लंबे समय तक देखभाल और समर्थन प्रदान करते हैं जो अपने परिवारों में वापस आने में असमर्थ हैं।

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।