सरकार के खोखले वादों की सच्चाई,अंतिम संस्कार के लिए नहीं थे पैसे, मां ने बेटे का किया देहदान

सरकार के खोखले वादों की सच्चाई,अंतिम संस्कार के लिए नहीं थे पैसे, मां ने बेटे का किया देहदान

By: Madhu Sagar
February 17, 11:21
0
New Delhi: छत्तीसगढ़ में गरीब अदिवासी मां ने अपने जवान बेटे की लाश को दान कर दिया।

दरअसल गरीबी के कारण मां के पास बेटे के अंतिम संस्कार के लिए भी पैसे नहीं थे जिसके बाद उसने अपने लाडले की लाश को मेडिकल कॉलेज को दान कर दिया। 

पढ़े- विराट कोहली ने जॉर्ज बैली को पीछे छोड़ा, बनाया यह वर्ल्ड रिकॉर्ड


हालांकि मेडिकल कॉलेज के चिकित्सक इस बात से खुश हैं कि उन्हें पहली बार बच्चों के 'प्रैक्टिकल' के लिये कोई 'बॉडी' मिली है।  

पढ़े- भूकंप के तेज झटकों से हिली मैक्सिकों की धरती, डरे-सहमे सभी लोग घर से बाहर भागे

बताया जा रहा है कि महिला का बेटा सड़क हादसे में गंभीर रूप से घायल हो गया था। इसके बाद उसे हॉस्पिटल में भर्ती करवाया गया जहां उसकी मौत हो गई। मौत के बाद डॉक्टरों ने लाश को परिवार वालों को सौंप दिया। लेकिन महिला के पास अपने जवान बेटे के संस्कार के लिए भी पैसे नहीं थे। 

जिसके बाद मां सुधरी बाई तैयार हो गई की बेटे का लाश को कहीं रास्ते में छोड़ दिया जाये क्योंकि उनके पास अंतिम संस्कार के भी पैसे नहीं थे। मां का कहना था कि गरीबी के कारण उनकी स्थिति ऐसी नहीं है कि वे लाश को अपने गांव भी ले जा सकें। इसके बाद फिर अंतिम संस्कार करना तो संभव ही नहीं था। 

यह मामला ऐसे समय सामने आया है, जब पिछले ही सप्ताह राज्य के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने राज्य में प्रति व्यक्ति आय में भारी बढ़ोत्तरी की घोषणा करते हुये दावा किया था कि राज्य में औसत आय 92,035 रुपये सालाना हो गई है। ऐसे में विपक्षी दल ने भी सरकार को घेरते हुए गंभीर आरोप लगाए हैं। 

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।