निवेश को बढ़ावा देने के लिए अमेरिका-चीन व्यापार युद्ध का लाभ उठा सकता है भारत : USIBC चीफ

New Delhi: देश में गिरती अर्थव्यवस्था को लेकर बढ़ती चिंताओं के बीच यूएस-इंडिया बिजनेस काउंसिल (USIBC) की अध्यक्ष और पूर्व सहायक सचिव राज्य निशा बिस्वाल ने उम्मीद जगाई है। निशा बिस्वाल ने कहा कि भारत को अमेरिका और चीन के बीच चल रहे व्यापार युद्ध का लाभ उठाना चाहिए। लेकिन भारत को सिर्फ यहीं तक सीमित नहीं रहना चाहिए, उसे आगे की संभावनाओं पर जोर देना चाहिए।

निवेश को आगे बढ़ाने के लिए भारत चीन-अमेरिकी व्यापार का लाभ ले सकता है लेकिन उसे निवेश को आकर्षित करने के लिए और अधिक काम करना होगा। हिंद महासागर सम्मेलन के मौके पर मीडिया से बात करते हुए USIBC अध्यक्ष ने कहा कि हम एक वैश्विक वातावरण में हैं, जहां हम दुनिया भर की प्रमुख अर्थव्यवस्थाओं में उतार-चढ़ाव देखते हैं।

भारतीय अर्थव्यवस्था का इस संकट के दौर से गुजरना किसी आश्चर्य की बात नहीं है। भारत भी अभी कुछ चुनौतियों का सामना कर रहा है। उन्होंने कहा कि भारत एक वैश्विक वातावरण में लाभार्थी हो सकता है। कंपनियां चीन में अधिक निवेश करने में संकोच करती हैं क्योंकि वे अमेरिका और चीन के बीच व्यापार युद्ध की तलाश कर रहे हैं।

इन हालातों में कंपनियों के लिए भारत एक अच्छा विकल्प हो सकता है। उन कंपनियों को आकर्षित करने के लिए भारत को और अधिक मेहनत करने की जरूरत है। भारत की अर्थव्यवस्था नीतियों को लेकर निशा बिस्वाल ने उत्साह दिखाया है। उन्होंने कहा कि भारत आर्थिक दृष्टि की ओर अपनी नजर बनाए हुआ है और अधिक निवेश को प्रोत्साहित करने के लिए अपने कार्यों में जुटा हुआ है।

अर्थव्यवस्था को बचाने के लिए साहस और ज्ञान दोनों की जरुरत है फिलहाल यह दोनों हमारे पास नहीं : सुब्रमण्यम