सुशांत केस में पुलिस स्टेशन में यशराज के दो बड़े अधिकारियों से पूछा- पानी क्यों नहीं बनी?

New Delhi : सुशांत सिंह राजपूत मामले में मुंबई पुलिस ने नामी प्रोडक्शन हाउस यशराज फिल्म्स के दो पूर्व बड़े अधिकारियों आशीष सिंह और आशीष पाटिल के बयान दर्ज किये हैं। रिपोर्ट्स के मुताबिक, दोनों ही एग्जीक्यूटिव उस समय प्रोडक्शन हाउस से जुड़े हुए थे, जब 2012 में सुशांत ने इसके साथ कॉन्ट्रैक्ट साइन किया था। मुंबई मिरर की रिपोर्ट में सूत्रों की हवाले से लिखा गया है कि पुलिस को सुशांत के उस एग्रीमेंट की कॉपी तो मिल गई है, जो उन्होंने कॉन्ट्रैक्ट साइन करते वक्त किया था। लेकिन इससे बाहर निकलने के बाद के एग्रीमेंट की कॉपी उनके पास नहीं है।

शुक्रवार को प्रोडक्शन हाउस के दोंनो पूर्व एग्जीक्यूटिव ज्यादातर सवाल कॉन्ट्रैक्ट साइन करने और इससे बाहर जाने की शर्तों को लेकर ही किये गये थे। यशराज की कास्टिंग डायरेक्टर शानू शर्मा को भी शनिवार को पूछताछ के लिए पुलिस स्टेशन बुलाया गया है। बताया जा रहा है कि यशराज के लिए शानू ने ही सुशांत को साइन किया था। उनसे इस संदर्भ में कुछ डॉक्यूमेंट्स भी मांगे गए हैं।
पिछले सप्ताह यशराज ने सुशांत के साथ हुए अपने पुराने कॉन्ट्रैक्ट की कॉपी पुलिस को सौंप दी थी। सूत्र बताते हैं कि इस कॉन्ट्रैक्ट कॉपी में सुशांत के साथ यशराज की तीन फिल्मों का जिक्र है, जिनमें से दो ‘शुद्ध देसी रोमांस’ और ‘ब्योमकेश बक्शी’ बन चुकी थीं। तीसरी फिल्म ‘पानी’ थी, जो ठंडे बस्ते में चली गई थी।
यशराज आमतौर पर कलाकारों के साथ तीन फिल्मों की डील करता है। फिल्मों की सफलता के आधार पर करार आगे बढ़ाया जाता है। सुशांत के साथ तीसरी फिल्म ‘पानी’ नहीं बनाने के पीछे की वजह इसका बजट बताया गया है। ट्रेड से जुड़े लोग बताते हैं कि निर्देशक शेखर कपूर ने इस फिल्म के लिए 150 करोड़ रुपए से ज्यादा का बजट बताया था।

यह यशराज को बहुत ज्यादा लगा और उन्होंने फिल्म बनाने से इनकार कर दिया। इसके चलते शेखर और सुशांत दोनों को ही ठेस पहुंची थी।
यशराज के अलावा मुंबई पुलिस ऐसे अन्य प्रोडक्शन हाउसेस की छानबीन भी कर रही है, जहां सुशांत ने फिल्में साइन की थीं। वहीं, पुलिस की एक टीम अभिनेता के आर्थिक पहलुओं की जांच कर रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

forty five − = thirty nine