भारतीय सेना से डरे इमरान खान, पाकिस्तानियों से कहा-LOC पारकर भारत में घुसने की कोशिश ना करें

New Delhi : पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने बुधवार को पाकिस्तानियों को चेतावनी देते हुए कहा है कि भावना में बहकर नियंत्रण रेखा (LoC) पार करने की कोशिश ना करें। पाक पीएम इमरान खान ने कहा कि ऐसी किसी भी कोशिश से कश्मीरियों के सं’घर्ष पर बुरा असर पड़ेगा।

पाकिस्तान-अफगानिस्तान सीमा पर इंटीग्रेटेड ट्रेड मैनेजमेंट सिस्टम का उद्घाटन करने पहुंचे इमरान खान ने कहा कि वह हर अंतरराष्ट्रीय मंच से कश्मीर के मुद्दे को उठाना जारी रखेंगे। इमरान खान से एक पत्रकार ने कहा कि पाकिस्तानी कश्मीर को लेकर गुस्से में हैं और वहां जाकर उनके लिए लड़ना चाहते हैं। इमरान ने जवाब दिया, ऐसा करना कश्मीरियों के प्रति सबसे बड़ी दुश्मनी निभाना होगा। जिसे लगता है कि वे कश्मीरियों की लड़ाई में साथ देने के लिए सीमा पार करेंगे, वे कश्मीरियों और पाकिस्तान के सबसे बड़े दु’श्मन होंगे।

इमरान ने कहा कि भारतीय प्रशासन कश्मीर में दमन करने के लिए ऐसे ही किसी बहाने का इंतजार कर रहा है। उन्हें एक बहाना चाहिए। अगर पाकिस्तान से कोई भी शख्स भारत ल’ड़ने के लिए जाता है, तो इससे उन्हें वहां और अत्याचार करने का मौका मिल जाएगा। भारत कहेगा कि कश्मीरी तो हमारे साथ हैं लेकिन पाकिस्तान से दह’शतगर्द आ रहे हैं।

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा कि भारत को कश्मीर में मानवाधिकार उल्लंघन पर पर्दा डालने का मौका मत दीजिए। इससे कश्मीरियों की जिंदगी और मुश्किल हो जाएगी। इमरान खान अपने देश के आतंकी चेहरे की हकीकत के बारे में अच्छे से जानते हैं इसीलिए उन्हें ये डर बार-बार सता रहा है कि कहीं फिर से पूरी दुनिया के सामने उसकी पोल ना खुल जाए। पाकिस्तान आतंकी संगठनों पर कार्रवाई को लेकर तमाम अंतरराष्ट्रीय संगठनों के रडार में भी है। अगर पाकिस्तान की तरफ से ऐसी किसी आतंकी घटना को अंजाम देने की कोशिश की जाती है तो उसे वैश्विक संस्थाओं से ब्लैकलिस्ट होते देर नहीं लगेगी।

इमरान खान ने आगे कहा कि वह पाकिस्तान से किसी को भी एलओसी पार करने की इजाजत नहीं देंगे। इमरान ने आगे कहा कि जब तक कश्मीर से कर्फ्यू नहीं हटेगा, तब तक वह दिल्ली के साथ वार्ता नहीं करेंगे। कूटनीतिक मोर्चे पर पूरी तरह से असफल होने के बावजूद इमरान खान ने आश्वासन दिया कि वह संयुक्त राष्ट्र महासभा के सत्र में कश्मीर का मुद्दा मजबूती से उठाएंगे।