अगर शिवसेना ने सदन में बीजेपी के खिलाफ वोट दिया तो समर्थन देने पर करेंगे विचार: NCP नेता मलिक

New Delhi: महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने बीजेपी को सरकार बनाने के लिए आमंत्रित किया है। इसके बाद राज्य में सियासी गरमाहट में तेजी आ गई है। एनसीपी नेता नवाब मलिक ने कहा कि महाराष्ट्र में अगर बीजेपी की सरकार गिर जाती है तो राज्य के हित के लिए हम लोग वैकल्पिक सरकार बनाने की कोशिश करेंगे। उनकी पार्टी शिवसेना के नेतृत्व वाली सरकार का समर्थन करने पर विचार कर सकती है।

मलिक ने कहा, ‘अगर बीजेपी की सरकार बनती है तो हम विधानसभा में उनके खि’लाफ वोट करेंगे। हम देखेंगे कि अगर शिवसेना सरकार को गिराने के लिए सदन में बीजेपी के खि’लाफ वोट देती है तो हम शिवसेना के नेतृत्व में वैकल्पिक सरकार का समर्थन करने पर विचार करेंगे।’

उन्होंने आगे कहा, ‘राज्यपाल ने बीजेपी को सरकार बनाने के लिए आमंत्रित करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। यह पहले भी शुरू किया जा सकता था। उनको सावधानी बरतनी चाहिए क्योंकि बीजेपी के पास स्थिर सरकार बनाने के लिए संख्या नहीं है।’

मलिक के मुताबिक 54 विधायकों वाली एनसीपी ने राजनीतिक परिस्थितियों पर चर्चा करने के लिए 12 नवंबर को अपने विधायकों की बैठक बुलाई है।

हालांकि एनसीपी सुप्रीमो शरद पवार ने शिवसेना के साथ जाने से मना किया है। पवार ने 24 अक्टूबर को कहा था, ‘मैं साफ करना चाहूंगा कि मुख्यमंत्री पद के लिए शिवसेना को समर्थन देने और उनके साथ जाने के बारे में कोई फैसला नहीं लिया गया है। महाराष्ट्र में हमारे अपने साथी हैं और हम उनके साथ चलेंगे और उनका ही समर्थन करेंगे। हम हमारे फैसलों पर टिके रहें। राकांपा, कांग्रेस और दूसरे सहयोगी भविष्य की कार्रवाई के बारे में एक साथ फैसला करेंगे। हम शिवसेना के साथ नहीं जायेंगे।’

बता दें कि महाराष्ट्र विधानसभा चुनावों में बीजेपी को सबसे बड़ी पार्टी उभरकर सामने आने की वजह से सरकार बनाने का आमंत्रण मिला है। राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने बीजेपी को सरकार बनाने का न्योता दिया है। 21 अक्टूबर को 288 सदस्यीय महाराष्ट्र विधानसभा के लिए हुए चुनावों में बीजेपी ने 105 सीटों, शिवसेना ने 56, राकांपा ने 54 और कांग्रेस ने 44 सीटों पर जीत दर्ज की थी।

भारत को किसी नए मंदिर, चर्च, मस्जिद, गुरुद्वारे की जरूरत नहीं है: कार्ति चिदंबरम