ICC World Cup 2019 : विश्व के सबसे विध्वंशकारी सलामी बल्लेबाज हैं डेविड वार्नर, गेंदबाजों की जमकर करते हैं धुनाई

New Delhi : अस्सी के दशक में लोगों ने विवियन रिचर्ड्स को लम्बे-लम्बे छक्के मारते हुए देखा था। उसके बाद लगा कि शायद रिचर्ड्स के बाद कोई दूसरा इतना आक्रामक सलामी बल्लेबाज क्रिकेट में देखने को नहीं मिलेगा। लेकिन फिर वीरेंदर सहवाग आये और प्रत्येक गेंदबाज के दिलों दिमाग में किसी बुरे सपने की तरह बस गए। सहवाग ने विश्व के हर मैदान पर अपनी आक्रामक बल्लेबाजी से दर्शकों का खूब मनोरंजन किया। उसके बाद लगा कि अब कोई सहवाग की तरह का आक्रामक सलामी बल्लेबाज नहीं आएगा। लेकिन सहवाग के सामने ही ऑस्ट्रेलिया से एक सलामी बल्लेबाज आया जो पहली गेंद से ही गेंदबाजों पर हावी हो जाता है और मैदान के चारों तरफ चौके छक्के लगाकर दर्शकों का खूब मनोरंजन करता है। नाम है ‘डेविड वार्नर।’

डेविड वार्नर के लिए खुद सहवाग ने कहा था ‘मेरे द्वारा टेस्ट मैच में एक दिन में बनाये 283 रनों के रिकॉर्ड को डेविड वार्नर तोड़ सकते हैं।’ दाएं हाथ के सलामी बल्लेबाज डेविड वार्नर ऑस्ट्रेलिया के लिए क्रिकेट के तीनों प्रारूपों में सलामी बल्लेबाज की भूमिका निभाते हैं। डेविड वार्नर basically बाएं हाथ के बल्लेबाज हैं लेकिन यह बल्लेबाज दाएं हाथ से भी जोरदार छक्का मारता है। वार्नर मौजूदा दौर के सबसे खतरनाक सलामी बल्लेबाज हैं और अपनी तेज बल्लेबाजी के साथ -साथ लम्बी परियों के लिए भी जाने जाते हैं।

32 साल के डेविड वार्नर का जन्म ऑस्ट्रेलिया के सिडनी में 27 अक्टूबर, 1986 को हुआ था। वार्नर, ऑस्ट्रेलिया के क्रिकेट इतिहास में पहले ऐसे प्लेयर हैं जिन्होंने बिना कोई फर्स्ट क्लास मैच खेले अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में पर्दापण किया था। डेविड वार्नर ने अपने घरेलू क्रिकेट कैरियर की शुरुआत 2008-09 में Sheffield Shield competition के फाइनल में New South Wales के लिए Western Australia के खिलाफ खेलते हुए की थी। इस मैच में नंबर 6 पर उतरे वार्नर ने 46 गेंदों पर 42 रनों की पारी खेली थी। जल्द ही डेविड वार्नर ऑस्ट्रेलिया के घरेलू क्रिकेट में वनडे में सर्वाधिक रन बनाने वाले बल्लेबाज बन गए। उन्होंने Jimmy Maher के 187 रनों के रिकॉर्ड को तोड़ते हुए 141 गेंदों पर 20 चौकों और 10 छक्कों की मदद से 197 रन बना डाले।

अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में प्रदर्शन

डेविड वार्नर ने अपने अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट कैरियर की शुरुआत 11 जनवरी 2009 को मेलबोर्न में साउथ अफ्रीका के खिलाफ T20 मैच खेलते हुए की थी। वार्नर ने अपने एकदिवसीय अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट की शुरुआत भी 18 जनवरी, 2009 को साउथ अफ्रीका के खिलाफ खेलते हुए ही की थी और अपने टेस्ट कैरियर की शुरुआत 2011 में न्यूज़ीलैंड के खिलाफ खेलते हुए की थी।

पर्थ के WACA मैदान पर टेस्ट में तीन शतक लगाने वाले वार्नर दुनिया के अकेले बल्लेबाज हैं। सुनील गावस्कर और रिकी पोंटिंग के बाद टेस्ट की दोनों पारियों में तीन बार शतक लगाने वाले वार्नर दुनिया के सिर्फ तीसरे बल्लेबाज हैं।

T20 में युवराज सिंह और कोलिन मुनरो  के बाद 18 बॉल में अर्धशतक लगाकर, सबसे तेज अर्धशतक लगाने वाले बल्लेबाजों में भी वार्नर तीसरे स्थान पर हैं। युवराज सिंह ने 2007 में हुए T20 क्रिकेट के पहले विश्व कप में इंग्लैंड के खिलाफ 12 गेंदों पर अर्धशतक लगाया था।

डेविड वार्नर टेस्ट क्रिकेट में 21 शतक और 48.20 की औसत से 6,363 रन और वनडे में 14 शतक और 43.43 की औसत से 4,343 रन बना चुके हैं।

डेविड वार्नर, साल 2018 में साउथ अफ्रीका के खिलाफ बॉल टेम्परिंग मामले में दोषी पाए गए थे। जिसकी वजह से उनको सभी तरह के क्रिकेट खेलने पर एक साल के बैन का सामना करना पड़ा था।

IPL में प्रदर्शन

डेविड वार्नर ने अपने IPL कैरियर की शुरुआत साल 2009 में दिल्ली डेयरडेविलस की तरफ से खेलते हुए की थी। 2011 में दिल्ली की तरफ से खेलते हुए चैंपियंस लीग में वार्नर ने चेन्नई सुपर किंग्स और रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु के खिलाफ लगातार पारियों में शतक लगाया , T20 में लगातार पारियों शतक लगाने वाले वह पहले बल्लेबाज बने। इन मैचों में उन्होंने क्रमशः नाबाद 135 और 123 रनों की पारियां खेली थीं।

2014 से वह Sunrisers Hyderabad की टीम से जुड़े हुए हैं। 2015 में वार्नर हैदराबाद टीम के कप्तान बनाये गए और टूर्नामेंट में सर्वाधिक रन बनाने वाले बल्लेबाज बने। 2016 में हैदराबाद की टीम वार्नर की कप्तानी में पहली बार IPL चैंपियन बनी। वह विराट कोहली के बाद लीग में सर्वाधिक रन बनाने वाले बल्लेबाजों में दूसरे स्थान पर रहे। वार्नर ने कुल 848 रन बनाये। 2017 में एक बार फिर वार्नर सर्वाधिक रन बनाने वाले बल्लेबाज बने और इसके लिए उनको ऑरेंज कैप से सम्मानीत किया गया।

2018 में बॉल टेंपरिंग मामले में नाम आने के कारण वार्नर को एक साल के प्रतिबंध का सामना करना पड़ा। लेकिन IPL के 2019 सत्र में शानदार वापसी करते हुए डेविड वार्नर एक बार फिर से लीग में सर्वाधिक रन बनाने वाले बल्लेबाज बने।

इंग्लैंड में 30 जून से शुरू हो रहे विश्व कप में ऑस्ट्रेलिया की टीम डेविड वार्नर से यही चाहेगी कि वह हमेशा की तरह टीम को तेज शुरुआत दिलाएं और विरोधी टीम की रणनीति को पस्त करें।