IAS अफसर केरल के क्वारेन्टाइन से भाग कानपुर आ गये, लेकिन पिटेगा तो मंगरू ही जो पैदल घर जा रहा है

New Delhi : इनको पहचान लीजिये। ये हैं अनुपम मिश्र, IAS 2016 Batch,केरल कैडर। आज इन पर केस हुआ है। क्यों ? चलिये जान लेते हैं -: कोल्लम जिले के डिप्टी कलेक्टर अनुपम 19 मार्च को विदेश से लौटे तो इन्हें 14 दिनों के सेल्फ आइसोलेशन में भेजा गया। 20 मार्च को जब DM ने खोज खबर ली तो जनाब गायब मिले। बाद में पता चला कि ये भागकर अपने घर कानपुर आ गये हैं। सो, इन पर निर्धारित मानदंडों का उल्लंघन करने का मामला दर्ज हुआ है। अगर कोई आम इंसान होता तो अभी जमकर कुटाई भी होती और जानबूझकर लोगों की जान जाखिम में डालने की IPC की धाराएं लगती सो अलग।
बहरहाल यह बात पिछले कुछ मामलों से तो साबित हो ही गया है कि पढ़ा लिखा शासक वर्ग ही सबसे ज्यादा लापरवाह है। इन्हे विदेश भी जाना है, वहां से लौटना भी है, किसी की सलाह नहीं माननी है, बंदी में फल खरीदने भी जाना है, मगर पिटाई हो रही है मंगरू की। वह सैकड़ों किलोमीटर घर पैदल भी आ रहा है तो जुर्म है। और IAS केरल से यूपी पहुंच गए और किसी को कोई फर्क नहीं पड़ता है।
कोल्लम पुलिस के अनुसार, उप जिलाधिकारी अनुपम मिश्रा हाल ही में अपने घर से लौटे थे जिसके बाद वे छुट्टी मनाने सिंगापुर गए थे। उनके लौटने पर, जिला प्रशासन ने उन्हें 14 दिनों के लिए अपने आधिकारिक निवास में सेल्फ आइसोलेशन में रहने का निर्देश दिया है। यह निर्देश 19 मार्च को जारी किया गया था।

कोल्लम के एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा – जब वह हमारी कॉल का जवाब नहीं दे रहे थे, तो पुलिस ने कानपुर में उनके सिम की लोकेशन का सत्यापन किया। मिश्रा ने स्वीकार किया कि वह 23 मार्च की आधी रात को केरल के लिए घर से बाहर निकले।
कोल्लम प्रशासन ने अनुपम मिश्रा के ड्राइवर, निजी सुरक्षा गार्ड और सचिव को सेल्फ आइसोलेशन में रखा है। एक IAS ऑफिसर का इस तरह लापता हो जाना सरकार को शर्मिंदा कर गया है। प्रवक्ता ने कहा कि एक कप्तान इस तरह से जहाज नहीं छोड़ सकता है। उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

thirty two + = thirty five