अयोध्या विवाद पर आए फैसले को मैं सलाम करता हूँ : शायर मनुव्वर राणा

New Delhi: अयोध्या विवाद पर सुप्रीम कोर्ट के पर कवि और शायर मनुव्वर राणा ने ख़ुशी जताई है। न्यूज़ एजेंसी एएनआई से बात करते हुए राणा ने कहा कि,’ मैं आज के फैसले को सलाम करता हूं। बाबरी मस्जिद एक राजनीतिक मुद्दा बन गया था। आज यह मामला समाप्त हो गया है और मैं इस बात को बहुत ही सरल और ईमानदार तरीके से कह रहा हूँ। मुझे भरोसा है कि देश आगे बढ़ेगा।

आपको मालूम हो कि सुप्रीम कोर्ट ने शनिवार को केंद्र सरकार को अयोध्या में विवादित जमीन पर मंदिर निर्माण का आदेश दिया। इस संबंध में कोर्ट ने सरकार को निर्देश दिया कि इस उद्देश्य के लिए एक ट्रस्ट का गठन किया जाए जो तीन महीने के भीतर मंदिर को बनाएगा। वहीं शीर्ष अदालत ने सरकार को कहा कि सुन्नी वक्फ बोर्ड को पांच एकड़ जमीन अयोध्या में ही कहीं और देने के निर्देष दिए हैं।

मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई की अध्यक्षता और न्यायमूर्ति एसए बोबडे, डी वाई चंद्रचूड़, अशोक भूषण और एस अब्दुल नजीर की अध्यक्षता वाली पांच-न्यायाधीश की संविधान पीठ ने इलाहाबाद हाई कोर्ट के एक आदेश के खिलाफ याचिका के एक बैच पर आदेश पारित किया, जो रामलला विराजमान और सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड और निर्मोही अखाड़ा के बीच विवाद का निपटान किया। दशक भर का यह कानूनी विवाद दक्षिणपंथी हिंदू महासभा, हिंदू भिक्षुओं निर्मोही अखाड़ा और सुन्नी वक्फ बोर्ड द्वारा अयोध्या में 2.77 एकड़ भूमि पर लड़ा गया था।