उन सबको दिल से बधाई देता हूँ जिन्होंने अयोध्या फैसले को स्वीकार किया : CM योगी

New Delhi: अयोध्या विवाद पर सुप्रीम कोर्ट के पर उत्तर-प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ख़ुशी जताई है। योगी ने अपने प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि ,’ उन सभी लोगों को दिल से बधाई देता हूँ जिन्होंने इस फैसले का स्वागत किया। योगी ने कहा कि हमारे यहां नकारात्मकता की कोई जगह नहीं है। भारत की लोकतांत्रिक मजबूती एक बार फिर साबित हुई है।

फैसले के तुरंत बाद योगी ने ट्वीट कर कहा था कि,’माननीय सर्वोच्च न्यायालय के निर्णय का स्वागत है, देश की एकता व सद्भाव बनाए रखने में सभी सहयोग करें, उत्तर प्रदेश में शांति, सुरक्षा और सद्भाव का वातावरण बनाए रखने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार पूर्ण रूप से प्रतिबद्ध है’। फैसले के बाद योगी आदित्यनाथ खुद पुलिसिया व्यवस्था और डायल 100 पर नजर बनाये हुए थे।

आपको मालूम हो कि सुप्रीम कोर्ट ने शनिवार को केंद्र सरकार को अयोध्या में विवादित जमीन पर मंदिर निर्माण का आदेश दिया। इस संबंध में कोर्ट ने सरकार को निर्देश दिया कि इस उद्देश्य के लिए एक ट्रस्ट का गठन किया जाए जो तीन महीने के भीतर मंदिर को बनाएगा।

वहीं शीर्ष अदालत ने सरकार को कहा कि सुन्नी वक्फ बोर्ड को पांच एकड़ जमीन अयोध्या में ही कहीं और देने के निर्देष दिए हैं। मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई की अध्यक्षता और न्यायमूर्ति एसए बोबडे, डी वाई चंद्रचूड़, अशोक भूषण और एस अब्दुल नजीर की अध्यक्षता वाली पांच-न्यायाधीश की संविधान पीठ ने इलाहाबाद हाई कोर्ट के एक आदेश के खिलाफ याचिका के एक बैच पर आदेश पारित किया, जो रामलला विराजमान और सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड और निर्मोही अखाड़ा के बीच विवाद का निपटान किया। दशक भर का यह कानूनी विवाद दक्षिणपंथी हिंदू महासभा, हिंदू भिक्षुओं निर्मोही अखाड़ा और सुन्नी वक्फ बोर्ड द्वारा अयोध्या में 2.77 एकड़ भूमि पर लड़ा गया था।