इलाहाबाद से मुगलसराय तक बनेगी नई रेल लाइन, रेलमंत्री ने दी तीन नई रेल लाइनों को मंजूरी

New Delhi : बुधवार को केंद्र की कैबिनेट बैठक हुई जिसमें रेल मंत्री पीयूष गोयल ने तीन नई रेल लाइनों के निर्माण को मंजूरी दी। ये तीन लाइने ऐसे क्षेत्रों में बनाई जाएंगी जहां रेलवे पर क्षमता से अधिक पड़ता है। मंजूरी दी गई तीन लाइनों में इलाहाबाद से  मुगलसराय ( दीनदयाल उपाध्याय जंक्शन), पूर्वांचल में सहजनवां से लेकर दोहरीघाट और असम में डिब्रूगढ़ रूट पर नई बोनगोइगांव रंगिया अखटोरी से एक नई रेल लाइन का निर्माण किया जाएगा। इस फैसले से खुश होकर सीएम  आदित्यनाथ ने रेल मंत्री को ट्वीट कर धन्यवाद कहा।

सीएम ने कहा कि 3969.19 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाली परियोजनाओं से राज्य में कनेक्टिविटी बेहतर होगी और आर्थिक विकास में तेजी आएगी। इसके पहले मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री मोदी के प्रति आभार व्यक्त किया। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि प्रयागराज और पंडित दीनदयाल उपाध्याय जंक्शन के बीच 150 किलोमीटर और तीसरे  81.17 किलोमीटर लंबे रेल ट्रैक जो सहजनवा और डोहरीघाट के बीच का है, को मंजूरी देने के लिए आभार व्यक्त करता हूं। 

बता दें कि इलाहाबाद से मुगलसराय के बाच 21 स्टेशन पड़ते हैं। इसके निर्माण के लिए रेलवे 2890 रुपए खर्च करेगा। इन लाइनों के बन जाने से कंजेशन की समस्या खत्म हो जाएगी। निर्माण का यह काम पांच साल में पूरा करने की योजना है। इस रेल लाइन से सबसे ज्यादा फायदा पूर्वांचल के लोगों को मिलेगा।

दूसरी लाइन जो सहजनवा की है उस  पर लगभग 1442 करोड़ रुपये की लागत आएगी। इसके निर्माण के साथ कि उत्तर बिहार की ओर से आने वाली ट्रेनों को लखनऊ, इलाहाबाद, कानपुर जाने के लिए एक नया रास्ता मिल जाएगा। जबकि अंतिम लाइन जो कि असम के डिब्रूगढ़ रूट की है, पर 2248 करोड़ की लागत आएगी। यह लाइन चार साल में बनकर तैयार हो जएगी और इस पर 131 नए पुल और 20 स्टेशन बनाए जाएंगे।