ये कैसी दिल्ली : मो.आदिल से कहा, जय श्रीराम बोलो, गालियां दी, लप्पड़-थप्पड, उठा-उठा कर पटका

New Delhi : दिल्ली निवासी एक मुस्लिम युवक मो. कामिल ने आरोप लगाया है कि उसके भाई से सिर्फ इस बात के लिए मारपीट की गई क्योंकि शराब पिये कुछ युवक उससे ‘जय श्रीराम’ बोलने के लिए दवाब बना रहे थे और आदिल ने जय श्रीराम बोलने से मना कर दिया। इसके बाद हरकत में आई दिल्ली पुलिस ने पीड़ित से पूछताछ की और कहा कि यह मामला दो समुदाय के लड़कों के बीच महज झगड़े का है।
मामला बीती रात दिल्ली के जाफराबाद मेट्रो स्टेशन के नीचे का है। यहाँ दो युवकों के बीच किसी बात को लेकर मारपीट हो गई। घटना के बाद यमुना बाजार निवासी पीड़ित के भाई मोहम्मद कामिल ने आरोप लगाते हुए बताया – वह अपने छोटे भाई आदिल के साथ बीती रात 23 मई, 2020 को स्कूटी से दवा लेकर वापस अपने घर आ रहा था। तभी जाफराबाद मेट्रो स्टेशन के नीचे स्कूटी का पेट्रोल खत्म हो गया, जिसके बाद आदिल स्कूटी को पैदल ही लेकर जाने लगा। इसी बीच एक दूसरी स्कूटी पर सवार होकर आये युवकों ने आदिल के साथ मारपीट शुरू कर दी।
वेबसाइट दी वायर की एक रिपोर्ट के मुताबिक कामिल ने आरोप लगाया है – इस दौरान पार्किंग से 10-12 लड़के और आ गये। उनको सबसे बड़ी समस्या हमारी गोल टोपी से थी जो हमने रमजान की वजह से पहन रखी थी। उनलोगों ने कहा, क्यों बे मुल्ले, कुत्ते यहां क्या कर रहा है। उन्होंने कहा‘जय श्री राम’ बोल। आदिल ने जय श्रीराम बोलने से मना कर दिया। इसके बाद सबने गंदी-गंदी गालियाँ देते हुए आदिल के साथ मारपीट की। कामिल के मुताबिक उसके छोटे भाई आदिल के साथ इतनी मारपीट की गई कि उसके सर में गहरी चोट आई है। इसके बाद उसे तत्काल ज़ीटीबी हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है।
सूचना के बाद दिल्ली पुलिस कामिल के घर पहुँची और उससे पूछताछ करते हुए उसकी शिकायत को दर्ज किया। पुलिस मामले को अभी तक संदिग्ध मान रही है। हालाँकि मामले को लेकर अभी पुलिस जाँच में जुटी हुई है। दिल्ली पुलिस के मुताबिक मौजपुर बाबरपुर मेट्रो स्टेशन के पास रात 2 बजे के आसपास अलग-अलग समुदाय के लड़कों के बीच झगड़ा हुआ। दोनों को चोट लगी है। यह आपसी झगड़ा है, लेकिन इसे सांप्रदायिक रंग देने की कोशिश की जा रही है। सतर्कता बरतते हुए इलाके में पुलिस बल तैनात की गई है। फिलहाल स्थिति नियंत्रण में है। इस मामले को लेकर जाफराबाद थानाध्यक्ष राम मेहर सिंह से बात की गई तो उन्होंने कहा कि सांप्रदायिक झगड़े जैसा कुछ भी नहीं है। यह सब अफवाह है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

eight + 1 =