नोबेल पुरस्कार विजेता वैज्ञानिक ने कहा-ISRO पर हमें पूरा भरोसा, लैंडर से साध लेंगे संपर्क

New Delhi : बुधवार को नोबेल पुरस्कार विजेता वैज्ञानिक सर्जे हरोशे ने दावा किया है कि भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान केंद्र (ISRO) के वैज्ञानिक निश्चित ही भारत के पहले मून लैंडर की समस्या को दूर करने की कोशिश करेंगे। उनका कहना है कि उन्हें भरोसा है कि ISRO वैज्ञानिक जल्दी लैंडर से संपर्क साधकर अपने मिशन को पूरी तरह कामयाब करेंगे।

हरोशे के अनुसार विज्ञान हमें हैरान करता रहता है-कभी इसमें असफलता मिलती है तो कभी सफलता। हरोशे (75) ने ‘नोबेल प्राइज सीरीज इंडिया 2019’ समारोह से इतर कहा, मैं नहीं जानता कि इसके (मून लैंडर विक्रम) के साथ क्या हुआ लेकिन वे निश्चित ही समस्या का समाधान करने की कोशिश करेंगे।” भौतिकी के क्षेत्र में 2012 में नोबेल पुरस्कार जीतने वाले आशावादी हरोशे ने कहा कि विज्ञान में असफलता मिलती रहती है। हरोशे ने कहा, “विज्ञान कुछ ऐसा है जहां आप अज्ञात में जाते हैं।।आप हैरान होते हैं, कई बार सकारात्मक रूप से और कई बार नकारात्मक रूप से।

उन्होंने स्पष्ट रूप से कहा कि मून लैंडर के साथ वास्तव में क्या हुआ उन्हें इसकी जानकारी नहीं है। उपकरण ने अंतिम चरण तक काम किया था और फिर ‘आपके सामने किसी तरह की असफलता आ जाती है।’ उन्होंने कहा कि समस्या यह थी कि इस अभियान से बहुत ज्यादा उम्मीद थी और मीडिया का ध्यान अत्यधिक रूप से इस अभियान की ओर था और जब-जब असफलता होती है तो बड़े पैमाने पर निराशा फैलती है और वही हुआ।